Sunday , August 19 2018

इलेक्शन कमीशन के रहनुमायाना ख़ुतूत की बुनियाद पर चीफ़ इलेकट्रोल ऑफीसर की वज़ाहत

इलेक्शन कमीशन ने अक़लियती बहबूद की जारीया सकीमात पर अमल आवरी पर रोक लगादी है।

इलेक्शन कमीशन ने अक़लियती बहबूद की जारीया सकीमात पर अमल आवरी पर रोक लगादी है।

मजालिस मुक़ामी और असेंबली-ओ-लोक सभा चनुाव के ज़ाबता अख़लाक़ के नफ़ाज़ के सबब जारीया सकीमात पर अमल आवरी नहीं की जा सकती। इस सिलसिले में चीफ़ इलेक्ट्रॉल ऑफीसर ने महिकमा अक़लियती बहबूद को हिदायात रवाना की हैं।

इलेक्शन कमीशन आफ़ इंडिया के रहनुमायाना ख़ुतूत की बुनियाद पर इलेक्ट्रॉल ऑफीसर ने वज़ाहत की के इस्तिफ़ादा कुनुन्दगान को इन्फ़िरादी फ़ायदा से मुताल्लिक़ किसी भी स्कीम पर अमल आवरी नहीं की जा सकती। इलेक्शन कमीशन की इस हिदायात के बाद अक़लियती फाइनैंस कारपोरेशन और उर्दू एकेडेमी की जारीया सकीमात पर अमल आवरी रोक दी जाएगी।

बैंकों से क़र्ज़ की मंज़ूरी पर सब्सीडी की इजराई से मुताल्लिक़ स्कीम पर अमल आवरी रोक दी जाएगी। इस के अलावा उर्दू एकेडेमी की बाज़ सकीमात को ज़ाबता अख़लाक़ के इख़तेताम तक रोकना पड़ेगा।

स्पेशल सेक्रेटरी अक़लियती बहबूद सय्यद उम्र जलील ने सियासत को बताया कि महिकमा की सकीमात के बारे में इलेक्शन कमीशन से वज़ाहत तलब की गई थी कि जिस के जवाब में कमीशन ने अमल आवरी पर रोक लगाने की हिदायत दी है। उन्होंने बताया कि कोई भी एसी स्कीम जिस से इन्फ़िरादी तौर पर किसी को फ़ायदा पहुंचे इस पर अमल नहीं किया जा सकता।

ताहम कमीशन ने मर्कज़ी हुकूमत की हमा मक़सदी तरक़्क़ीयाती प्रोग्राम (ऐम एसडी पी) के लिए बजट की इजराई की इजाज़त दी है। इस स्कीम के तहत अक़लियतों की ज़ाइद आबादी वाले इलाक़ों में बुनियादी सहूलतों की फ़राहमी की सकीमात पर अमल किया जाता है। मर्कज़ ने इस स्कीम के तहत 16 करोड़ 46 लाख रुपये जारी किए थे।

TOPPOPULARRECENT