इशरत जहां के घर और शहर का दाग़ धुल गया

इशरत जहां के घर और शहर का दाग़ धुल गया
मुंबई २२ नवंबर ( सियासत न्यूज़ ) इशरत जहां फ़र्ज़ी एनकाउन्टर केस में ख़ुसूसी तहक़ीक़ाती टीम की जानिब से पेश करदा तहक़ीक़ाती रिपोर्ट के नतीजा में इशरत जहां के ख़ानदान और मुस्लमानों पर लगा दाग़ धुल गया है और अदालत से इंसाफ़ मिलने के यक़ी

मुंबई २२ नवंबर ( सियासत न्यूज़ ) इशरत जहां फ़र्ज़ी एनकाउन्टर केस में ख़ुसूसी तहक़ीक़ाती टीम की जानिब से पेश करदा तहक़ीक़ाती रिपोर्ट के नतीजा में इशरत जहां के ख़ानदान और मुस्लमानों पर लगा दाग़ धुल गया है और अदालत से इंसाफ़ मिलने के यक़ीन और एतिमाद में मज़ीद इज़ाफ़ा हुआ है ।

इन ख़्यालात का इज़हार इशरत जहां फ़र्ज़ी एनकाउन्टर केस की मुसलसल 2004 से पैरवी करने वाले माई मुंब्रा फाउंडेशन के सदर जनाब रउफ़ लाला ने किया । जनाब रउफ़ लाला ने मुंबई से सियासत न्यूज़ से बातचीत करते हुए कहा कि 2004 से मुसलसल इशरत जहां के अफ़राद ख़ानदान उन की तंज़ीम माई मुंब्रा फाउंडेशन और तमाम दूसरे इंसाफ़ पसंद गोशे कह रहे थे कि इशरत जहां का दहश्तगर्दी से कोई ताल्लुक़ नहीं होसकता और उसे किसी एनकाउन्टर में हलाक नहीं किया गया बल्कि इस का मुसलसल अज़ीयतें देने के बाद बीदर दाना अंदाज़ में क़तल करदिया गया था ।

आज इस बात को ख़ुसूसी तहक़ीक़ाती टीम ने भी तस्लीम करलिया है और इस ने रिपोर्ट गुजरात हाइकोर्ट में पेश करदी है। ये रिपोर्ट मज़लूम इशरत जहां केलिए इंसाफ़ की जद्द-ओ-जहद करने वाले हर गोशे के मौक़िफ़ को दरुस्त साबित करती है । जनाब रउफ़ लाला ने बताया कि इन का यक़ीन था कि इशरत जहां दहश्तगर्द नहीं है ।

दहश्तगर्दी तो दौर की बात है वो किसी भी जारिहाना कार्रवाई से तक भी ताल्लुक़ नहीं रखती थी इस बावजूद पुलिस वर्दी में मलबूस दरिंदों ने उसे ना सिर्फ दबोच लिया बल्कि उसे मुसलसल अज़ीयतें देते हुए बिलआख़िर क़तल करदिया । उन्हों ने कहा कि 2004 से मुसलसल जद्द-ओ-जहद आसान नहीं थी । मुक़ाबला एक पूरी रियासत से था और इंसाफ़ केलिए लड़ने वाले कमज़ोर थे ।

हक़ की आवाज़ को दबाने की मुसलसल कोशिशें भी की गई थीं लेकिन इंसाफ़ मिलने की यक़ीन पर ये जद्द-ओ-जहद जारी रही और अल्लाह तबारक-ओ-ताली की मदद से ये कामयाबी मिल गई है और ये साबित होचुका है कि इशरत जहां को क़तल करते हुए एनकाउन्टर की एक फ़र्ज़ी कहानी घड़ी गई है । उन्हों ने कहा कि इस रिपोर्ट से इशरत के घर और शहर को लगा दाग़ धुल गया है जो बड़ी राहत की बात है । उन्हों ने कहा कि इस केस को अब मज़ीद आगे बढ़ाया जाएगा ।

ना सिर्फ ये कि इशरत के क़तल केलिए मुआवज़ा तलब किया जाएगा बल्कि ख़ातियों को सज़ा देने केलिए भी अदालत से इस्तिदा की जाएगी। उन्हों ने कहा कि ये बात लायक़ शुक्र है कि मुल्क भर के सामने इशरत और इस के घर वालों को बेक़सूर साबित करने की जद्द-ओ-जहद में अल्लाह ताली ने कामयाबी दी है ।

जनाब रउफ़ लाला ने बताया कि रिपोर्ट पर ना सिर्फ मुतास्सिरीन ने राहत महसूस की बल्कि सारे इलाक़ा में ख़ुशी की लहर दौड़ गई और रात देर गए तक मुक़ामी अवाम इस रिपोर्ट पर मुबारकबाद देते और मिठाई बांटते हुए देखे गए ।

Top Stories