इशरत जहां के हलफनामों पर फर्जी विवाद कर रही है केंद्र- पी चिदंबरम

इशरत जहां के हलफनामों पर फर्जी विवाद कर रही है केंद्र- पी चिदंबरम
Click for full image

दिल्ली। कांग्रेस के नेता एवं पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम ने मोदी सरकार पर इशरत जहां मामले में दायर दो हलफनामों को लेकर ‘‘फर्जी विवाद” पैदा करने और लापता फाइलों की रिपोर्ट ‘‘छेडछाड करके” तैयार करने का आज आरोप लगाया। रिपोर्ट में यह कहा गया है कि इशरत जहां मामले से जुडी गुम हुई फाइलों की जांच कर रहे पैनल ने एक गवाह को ‘‘प्रताडित” किया। इसके बाद चिदंबरम ने एक बयान में कहा कि समाचार रिपोर्ट ने मामले में केंद्र सरकार की ओर से दायर दो हलफनामों पर राजग सरकार द्वारा पैदा किए गए ‘‘फर्जी विवाद को व्यापक रुप से उजागर” कर दिया है।
Chidambaram_4C_--621x414
उन्होंने कहा, ‘‘कहानी से यह सीख मिलती है कि छेडछाड करके तैयार की गई (जांच अधिकारी की) रिपोर्ट भी सच नहीं छुपा सकती। असल मुद्दा यह है कि क्या इशरत जहां और तीन अन्य लोग वास्तविक मुठभेड में मारे गए थे या उनकी मौत फर्जी मुठभेड में हुई थी। मामले की जुलाई 2013 से लंबित सुनवाई ही सच को सामने लेकर आएगी।” गृह मंत्रालय मे अतिरिक्त सचिव बी के प्रसाद के नेतृत्व में एक सदस्यीय जांच समिति ने कल जमा की गई अपनी रिपोर्ट में कहा था कि गुम हुए पांच दस्तावेजों में से चार दस्तावेज अब भी नहीं मिले हैं। पैनल ने कहा कि तत्कालीन संयुक्त सचिव के अनुसार ये कागजात उनके वरिष्ठों को भेजी गई फाइल का हिस्सा थे लेकिन जब फाइल उन्होंने वापस दी गई तो उसमें ये कागजात नहीं थे। उस समय चिदंबरम गृह मंत्री थे। कांग्रेस के नेता ने कहा कि समाचार रिपोर्ट ने उस रख को पूरी तरह से सही साबित कर दिया है जो उन्होंने दो हलफनामों को लेकर अपनाया था।

Top Stories