Monday , December 11 2017

इशरत जहां मुक़द्दमा , मुल्ज़िम मुलाज़मीन पुलिस को मज़ीद दस्तावेज़ात दरकार

दो मुल्ज़िम पुलिस ओहदेदार जिन के ख़िलाफ़ सी बी आई ने 2004 के इशरत जहां मुक़द्दमे में फ़र्द-ए-जुर्म दाख़िल करते हुए उन पर फ़र्ज़ी एनकाउंटर में मुलव्विस होने का इल्ज़ाम आइद किया है, आज गवाहों के तमाम साबिक़ा बयानात की नक़ल तल्ब कीं जो साबिक़ा

दो मुल्ज़िम पुलिस ओहदेदार जिन के ख़िलाफ़ सी बी आई ने 2004 के इशरत जहां मुक़द्दमे में फ़र्द-ए-जुर्म दाख़िल करते हुए उन पर फ़र्ज़ी एनकाउंटर में मुलव्विस होने का इल्ज़ाम आइद किया है, आज गवाहों के तमाम साबिक़ा बयानात की नक़ल तल्ब कीं जो साबिक़ा तहक़ीक़ाती महिकमों ने दर्ज किए थे।

मुल्ज़िम पुलिस ओहदेदार जी एल सिंघल और तरूण बारूत ने आज अपने वकील बुरज राज सिन्हा झाला के तवस्सुत से ऐडीशनल चीफ़ जोडिशीय‌ल मजिस्ट्रेट ऐच ऐस खोतवाद के इजलास पर दरख़ास्त पेश की और ये दस्तावेज़ात तल्ब कीं।

जज ने दरख़ास्त की समाअत 5 अगस्ट को मुक़र्रर करदी। इस मुक़द्दमे में मुल्ज़िम क़रार दिए हुए 7 में से 6 मुलाज़मीन पुलिस ने 4 जुलाई को सी बी आई के पेश करदा फ़र्द-ए-जुर्म में शामिल किया गया है। उन्हें मुख़्तलिफ़ दस्तावेज़ात और फ़र्द-ए-जुर्म की नकलें भी फ़राहम की गई हैं। ताहम सिंघल और बारूत ने तमाम साबिक़ा गवाहों के बयानात की नक़ल तल्ब की हैं।

TOPPOPULARRECENT