Monday , December 18 2017

इशरत मुक़द्दमा : पुलिस की हौसला शिकनी नहीं: डी जी पी

राजकोट, ०३ दिसम्बर: (पी टी आई) गुजरात के डी जी पी चितरंजन सिंह ने आज कहा कि इशरत जहां फ़र्ज़ी एनकाउंटर मुक़द्दमा की तहक़ीक़ात सी बी आई के हवाला करने के हाइकोर्ट के फ़ैसला से रियास्ती पुलिस के हौसले पर कोई असर मुरत्तिब नहीं होगा।

राजकोट, ०३ दिसम्बर: (पी टी आई) गुजरात के डी जी पी चितरंजन सिंह ने आज कहा कि इशरत जहां फ़र्ज़ी एनकाउंटर मुक़द्दमा की तहक़ीक़ात सी बी आई के हवाला करने के हाइकोर्ट के फ़ैसला से रियास्ती पुलिस के हौसले पर कोई असर मुरत्तिब नहीं होगा।

उन्होंने कहा कि मैंने फ़ैसला की नक़ल का मुतालिबा नहीं किया है और वो इस बारे में कोई कार्रवाई करने का बाद में फ़ैसला करेंगी। उन्हों ने एतराफ़ किया कि मुजरिमों को पुलिस का जो ख़ौफ़ था वो कई रियास्ती पुलिस ओहदेदारों के फ़र्ज़ी एनकाउंटर मुक़द्दमात में क़ैद होने के बाद कुछ हद तक कम हुआ है।

सयानत के बारे में बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस ने मशहूर मंदिरों बिशमोल सोमनाथ, डाकोर और द्वारका के ख़ुसूसी सयान्ती इंतिज़ामात किए हैं। सी सी टी वी नैट वर्क़्स नसब किए जाएंगी। डिप्टी एस पी की एक ख़ुसूसी चौकी सोमनाथ के पास क़ायम की जाएगी।

उन्होंने कहा कि तजज़िया और टेलीफ़ोन काल्स की तफ़सीलात की तहक़ीक़ात से अगर अहम सबूत दस्तयाब होजाए तो उसे रिकार्ड में शामिल किया जाएगा। अदालत-ए-फ़ौजदारी साज़िश के इल्ज़ामात का जायज़ा ले सकेगी। उन्होंने कहा कि मुजरिमाना लापरवाही और फ़राइज़ में कोताही बुलंद सतह पर है ।

वो राजकोट में प्रेस कान्फ़्रैंस से ख़िताब कर रहे थे।

TOPPOPULARRECENT