इश्तिआल अंगेज़ तक़रीर : स्वामी कमलानंद को भी 14 दिन की जेल

इश्तिआल अंगेज़ तक़रीर : स्वामी कमलानंद  को भी 14 दिन की जेल
हैदराबाद 15 जनवरी: ऐसा लगता है कि रियास्ती कांग्रेस हुकूमत किसी भी किस्म की इश्तिआल अंगेज़ी को बर्दाश्त नहीं करेगी । 8 जनवरी को पुलिस ने मजलिस फ़्लोर लीडर अकबर ओवैसी को गिरफ़्तार करते हुए उनकी तक़रीर को इश्तिआल अंगेज़ क़रार दिया और उन

हैदराबाद 15 जनवरी: ऐसा लगता है कि रियास्ती कांग्रेस हुकूमत किसी भी किस्म की इश्तिआल अंगेज़ी को बर्दाश्त नहीं करेगी । 8 जनवरी को पुलिस ने मजलिस फ़्लोर लीडर अकबर ओवैसी को गिरफ़्तार करते हुए उनकी तक़रीर को इश्तिआल अंगेज़ क़रार दिया और उनकी तक़रीर को मल्क के ख़िलाफ़ ग़द्दारी से ताबीर करते हुए संगीन दफ़आत लगाते हुए उन्हें जेल मुंतक़िल कर दिया, जिसके फ़ौरी बाद मुसलमानों में बेचैनी को महसूस करते हुए कांग्रेस हुकूमत ने आज पुलिस को हरी झंडी दिखाइ और इस पर पुलिस ने आज देवाल‌या रक्षणा समिति के सदर स्वामी कमलानंद को गिरफ़्तार करते हुए पैग़ाम दिया है कि अब रियासत में हिन्दू हो या मुसलमान किसी को भी इश्तिआल अंगेज़ी की इजाज़त नहीं रहेगी ।

अब देखना ये है कि रियास्ती हुकूमत प्रवीण तोगाड़िया के साथ क्या रवैय्या इख़तियार करती है । प्रवीण तोगाड़िया के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने का कई गोशों से मुतालिबा किया जा रहा है और रियास्ती हुकूमत के आइन्दा इक़दाम पर नज़रें जमी हुई है । बताया जाता है कि स्वामी कमलानंद ने मुसलमानों के ख़िलाफ़ ज़हर अफ़्शानी की और मज़हबी जज़बात को ठेस पहुंचाते हुए अक्सरियती फ़िर्क़ा को उकसाया था।

स्वामी कमलानंद भारती उर्फ़ कमलानंद सरस्वती की इस तक़रीर के ख़िलाफ़ शहर के कई पुलिस स्टेशनों में शहरियों ने शिकायत दर्ज कराई और पुराने शहर के इलाके दबीरपूरा और मीरचौक में शिकायत दर्ज कर ली गई थी ।

बावसूक़ ज़राए के मुताबिक़ मीर चौक पुलिस ने क्राईम नंबर 5/13 के तहत ताअज़ीरात-ए-हिंद की दफ़आत 153A और 295 के तहत स्वामी कमलानंद भारती के ख़िलाफ़ मुक़द्दमा दर्ज कर लिया । ताहम दबीरपूरा में की गई शिकायत और दीगर मुतालिबात को स्पैशल इन्वेस्टिगेशन टीम के हवाले कर दिया गया है और मजलिस बचाव‌ तहरीक की तरफ से की गई दीगर शिकायतों पर क़ानूनी मश्वरा का बहाना बनाते हुए दबीरपूरा पुलिस ने इस के ख़िलाफ़ ताहाल कोई कार्रवाई नहीं की ।

कमलानंद स्वामी को रात देर गए श्रीसेलम के इलाके से गिरफ़्तार कर लिया गया है और एस आई टी ने ये कार्रवाई अंजाम दी । स्वामी की गिरफ़्तारी के फ़ौरी बाद उसे सिकंदराबाद के इलाके में वाके जज के मकान पर पेश किया और जज के अहकाम पर 14 दिनों के लिए अदालती तहवील में देते हुए चरला पली जेल मुंतक़िल कर दिया ।

स्वामी कमलानंद भारती पिछ्ले 6 माह से सरगर्म रोल अदा कररहा है । वो सदर दीवालिया परी रुख्शना समीती की हैसियत से रियासत भर में अपना सरगर्म रोल अदा कर रहा है ।

इस ने अपनी सात साल की उम्र में अपने ही मकान में ईंटों को जमा करते हुए पहला मंदिर तामीर किया था और हिन्दु मज़हबी अक़ीदे को आम करने और मंदिरों की हिफ़ाज़त के लिए सरगर्म है ।

अकबर ओवैसी की तक़रीर के बाद विश्वा हिन्दु परिषद ने 8 जनवरी को इंदिरा पार्क पर धरना मुनज़्ज़म किया था और इस धरने में शिरकत करते हुए स्वामी ने मुस्लमानों को गाजर मूली की तरह चाक करदेने की बात की थी और कहा था कि अगर 100करोड़ हनदोव के हाथों में ख़ंजर दे दिया जाये तो फिर मुसलमानों का मुल्क से सफ़ाया होजाएगा ।

स्वामी के इस बयान के ख़िलाफ़ शिकायात मुख़्तलिफ़ पुलिस स्टेशन में दर्ज की गई थीं । इस ख़सूस में एडीशनल कमिशनर पुलिस क्राईम संदीप शान्डिल्या ने बताया कि पुलिस ने मीर चौक के मुक़द्दमा में स्वामी को गिरफ़्तार किया है और उसे जेल मुंतक़िल कर दिया गया है ।

उन्होंने बताया कि स्वामी के ख़िलाफ़ 9 जनवरी को मुक़द्दमा दर्ज करलिया गया था और पुलिस इस ज़िमन में मज़ीद तहक़ीक़ात कररही है। पुलिस ने स्वामी के बयान और तक़रीर को सुनने के बाद कार्रवाई की है ।

उन्होंने मज़ीद मुक़द्दमात के ताल्लुक़ से तफ़सीलात नहीं बताई । बावसूक़ ज़राए के मुताबिक़ स्वामी की ज़मानत 16 जनवरी को दाख़िल करने की कोशिशें जारी हैं ।

Top Stories