Saturday , November 18 2017
Home / International / इसराइल और भारत उग्रवाद और कट्टरपंथ के खिलाफ आपसी सहयोग को मज़बूत करेंगे: मोदी

इसराइल और भारत उग्रवाद और कट्टरपंथ के खिलाफ आपसी सहयोग को मज़बूत करेंगे: मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि इजरायल और भारत सभी शांतिप्रिय राष्ट्रों के साथ मिलकर चरमपंथ और कट्टरपंथ की ताकतों के खिलाफ मुकाबला करने के लिए आपसी सहयोग को तेज करने के लिए सहमत हो गए हैं ।

द्विपक्षीय वार्ता के बाद इसराइल के राष्ट्रपति रयूवेन रिव्लिन के साथ एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “हम समझते हैं कि आतंकवाद एक वैश्विक चुनौती है, यह कोई सीमा नहीं जानता और संगठित अपराध के अन्य रूपों के साथ इसके व्यापक संबंध हैं।”

“अफसोस है, इसको जन्म और बढ़ावा देने वाले देशों में से एक भारत के पड़ोस में है,” पाकिस्तान की तरफ इशारा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति रिव्लिन और वह गहराई से अपने समाज को सुरक्षित करने के लिए अपनी मजबूत और बढ़ती भागीदारी कद्र करते हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “हमारे लोग लगातार आतंकवाद और उग्रवाद से डरे सहमे हुए हैं। अंतरराष्ट्रीय समुदाय को आतंकी नेटवर्क और इसे शरण देने वाले देशों के खिलाफ दृढ़ संकल्प के साथ कार्य करना चाहिए। इसके खिलाफ सख्त क़दम और आवाज़ न उठाना केवल आतंकवादियों को प्रोत्साहित करता है। हम उग्रवाद और कट्टरता की ताकतों से सभी शांतिप्रिय राष्ट्रों को मिल रही चुनौती का मुकाबला करने के लिए आपसी सहयोग को तेज करने के लिए सहमत हुए हैं।”

इजरायल के साथ भारत के रक्षा साझेदारी की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “हम अपनी रक्षा साझेदारी को और अधिक व्यापक उत्पादन और विनिर्माण आधारित बनाने की जरूरत पर सहमत हुए हैं।”

“हम, जल प्रबंधन और संरक्षण के क्षेत्र में वैज्ञानिक अनुसंधान और विकास को प्राथमिकता दे रहे हैं और इजराइल के सहयोग से इन क्षेत्रों में बड़ी उपलब्धियों की उम्मीद कर रहे हैं,” प्रधानमंत्री ने कहा।

प्रधानमंत्री ने भारत-इजराइल संबंधों के बारे में कहा, “महामहिम, आपकी यात्रा हमारी भागीदारी में नए आधारों के निर्माण करने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका प्रदान करेगी। भारत का 2000 सालों पुराना यहूदी समुदाय, हमारे समग्र सांस्कृतिक सभ्यता के एक महत्वपूर्ण हिस्से का प्रतिनिधित्व करता है। हम अपने राजनयिक संबंधों की स्थापना के 25 साल पूरे करे की तरफ अग्रसर हैं, हम कई मोर्चों पर अपने संबंधों को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”

प्रधानमंत्री ने मोदी के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए राष्ट्रपति रिव्लिन ने आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए भारत के समर्थन पर अपनी प्रतिबद्धता को जताया।

राष्ट्रपति रिव्लिन, जो भारत की आठ दिन की सरकारी यात्रा पर हैं, ने कहा, “इसराइल भारतीय प्रधानमंत्री का साथ देने के लिए तैयार है; हम ‘मेक इन इंडिया’ और ‘भारत विथ इंडिया’ के लिए तैयार हैं।”

TOPPOPULARRECENT