Tuesday , December 12 2017

इसराईली सफ़ीर की कार धमाका की साज़िश 2011 में तैयार की गई थी

इसराईली सिफ़ारतकार की कार को बम धमाके से उड़ाने की साज़िश 2011 में तैयार की गई थी क्योंकि उसी वक़्त दो ईरानी शहरीयों ने हिंदूस्तान का दौरा किया था ताकि वो इसराईली सिफ़ारतख़ाने के महल वक़ूअ और अतराफ़-ओ-अकनाफ़ के इलाक़ों के इलावा सिफ़ारतकारों

इसराईली सिफ़ारतकार की कार को बम धमाके से उड़ाने की साज़िश 2011 में तैयार की गई थी क्योंकि उसी वक़्त दो ईरानी शहरीयों ने हिंदूस्तान का दौरा किया था ताकि वो इसराईली सिफ़ारतख़ाने के महल वक़ूअ और अतराफ़-ओ-अकनाफ़ के इलाक़ों के इलावा सिफ़ारतकारों की आमद और रवानगी के वक़्त का जायज़ा लेने आए थे।

सरकारी ज़राए के मुताबिक़ दो ईरानी शहरी सैयद अली मेंह्दी सदर और मुहम्मद रज़ा ने गिरफ़्तार शूदा सहाफ़ी सैयद मुहम्मद अहमद काज़मी के साथ इसराईली सिफ़ारतख़ाना के अतराफ़-ओ-अकनाफ़ का जायज़ा लिया था और बादअज़ां ईरान रवाना हो गए थे ताकि तैयार की गई साज़िश पर अमल आवरी की जा सके।

ज़राए के मुताबिक़ हुसैन अफ़्सर नामी शख़्स ने मुबय्यना वित्र पर कार पर बम चिपका दिया था जिसमें इसराईली सफ़ीर ताल नीशोशवा 13 फरवरी को सफ़र करने वाली थीं। धमाके के बाद सफ़ीर शदीद तौर पर ज़ख्मी हो गई थीं जबकि दीगर 4 अफ़राद भी मामूली तौर पर ज़ख्मी हुए थे।

इतेलाआत के मुताबिक़ हुसैन अफ़्सर ने जनवरी के अवाख़िर में हिंदूस्तान का दौरा किया था और दिल्ली के करोलबाग में वाक़्य ( स्थित) एक होटल में क़ियाम किया था। ज़राए ने ये दावा भी किया कि अफ़्सर ने काज़मी से मुलाक़ात के इलावा काज़मी की रिहायश गाह मौक़ूआ बी के दत्त कॉलोनी का दौरा भी किया था, जिस मोटर साईकिल का धमाका के लिए इस्तेमाल किया गया था उसे ज़ब्त कर लिया गया है जो इसी होटल के एक स्टाफ़ रुकन की है, जहां अफ़्सर ने क़ियाम किया था।

यहां इस बात का तज़किरा दिलचस्पी से ख़ाली ना होगा कि अफ़्सर जब भी नई दिल्ली आता तो उसी होटल में क़ियाम करता और होटल स्टाफ़ की मोटर साईकल का इस्तेमाल भी करता था लेकिन होटल स्टाफ़ की सादा लोही की वजह से उसे कभी ये शक नहीं हुआ कि अफ़्सर के आख़िर क्या शैतानी इरादे हैं? इसराईली सफ़ीर की कार में बम रखने के बाद अफ़्सर ने इसी शाम कुवाला लुमपुर जाने के लिए फ़्लाईट पकड़ ली और वहां से ईरान रवाना हो गया।

दिल्ली पुलिस ने गुज़श्ता शाम तीन ईरानी शहरीयों के ख़िलाफ़ ग़ैरज़मानती वारंट हासिल किया है जो चीफ़ मीटर वपोलीटन मजिस्ट्रेट विनोद यादव के इजलास से हासिल किया था जिस के बाद इंटरपोल से रुजू होते हुए ईरानी शहरीयों के ख़िलाफ़ इंटरपोल रेड कॉर्नर नोटिस को जारी करवाया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT