Sunday , June 24 2018

इसराईल की जारहीयत 8 फ़लस्तीनी हलाक 35 ज़ख़मी

ग़ाज़ा सिटी, १७ नवंबर ( ए एफ़ पी ) मिस्र के वज़ीर-ए-आज़म ने फ़लस्तीनी ग़ाज़ा पट्टी पर जारी इसराईली जारहीयत को रोकने के लिए आज आलमी क़ाइदीन से मुतालिबा किया । उन्होंने हम्मास के ज़ेर-ए-कंट्रोल इस इलाक़ा का दौरा भी किया । इस दौरान यहूदी ममलकत ने फ़ल

ग़ाज़ा सिटी, १७ नवंबर ( ए एफ़ पी ) मिस्र के वज़ीर-ए-आज़म ने फ़लस्तीनी ग़ाज़ा पट्टी पर जारी इसराईली जारहीयत को रोकने के लिए आज आलमी क़ाइदीन से मुतालिबा किया । उन्होंने हम्मास के ज़ेर-ए-कंट्रोल इस इलाक़ा का दौरा भी किया । इस दौरान यहूदी ममलकत ने फ़लस्तीनीयों के ख़िलाफ़ ज़मीनी फ़ौजी कार्रवाई शुरू कर देने की धमकी दी है ।

वज़ीर-ए-आज़म हेशाम क़ंदील के दौरा के फ़ौरी बाद फूट पड़ने वाले तशद्दुद के सबब मुख़्तसर मुद्दती जंग बंदी भी ख़त्म हो गई । फ़लस्तीनी सिक्योरिटी ज़िम्मेदारों ने कहा कि इसराईली फ़िज़ाई हमलों के नतीजा में दो फ़लस्तीनी हलाक हुए हैं । इसराईल ने हम्मास पर जंग बंदी समझौता की ख़िलाफ़वरज़ी करने का इल्ज़ाम आइद किया और फ़िज़ाई हमला करने की तरदीद की ।

इसराईली फ़ौजी तर्जुमान ने कहा कि गुज़शता दो घंटों के दौरान हम ने कोई हमला नहीं किया था और इस मुद्दत के दौरान दूसरी तरफ़ से 60 राकेट हमले किए गए । इसराईली फ़ौज ने दावा किया कि ग़ज़ा से 380 राकेट हमले किए गए ।12 राकेटों को रोक लिया गया । इस दौरान इज़ उद्दीन अल कसाम ब्रिगेडस से ताल्लुक़ रखने वाले हम्मास के अक्सरीयत पसंदों ने सरहद के उस पार से 40 राकेट हमले करने का एतराफ़ किया ।

मिस्र के वज़ीर-ए-आज़म हेशाम क़ंदील आज सुबह की अव्वलीन साअतों के दौरान राफ़ा से इस इलाक़ा में पहुंचे थे जो बमों के लिए पुरख़तर ( खतरनाक) समझा जाता है । उन्होंने गुज़शता चारशंबा से जारी हमलों के लिए इसराईल की सख़्त मुज़म्मत की । इन हमलों के नतीजा में मशरिक़ वुसता के सारे इलाक़ा में कशीदगी फैल चुकी है ।

हालाँकि बहर अरब तहरीक और शाम में जारी ख़ानाजंगी इलाक़ा पहले ही अमलन दहल चुका है । इसराईली हमलों में हलाक होने वाले फ़लस्तीनी अफ़राद की नाशों का वज़ीर-ए-आज़म ने ग़ाज़ा शिफ़ा हॉस्पिटल में मुआइना किया और इस अह्द का इज़हार किया कि ग़ाज़ा में इसराईली जारहीयत के ख़ातमे और दोनों फ़रीक़ों में जंग बंदी के लिए क़ाहिरा की मसाई में मज़ीद शिद्दत पैदा की जाएगी ।

मिस्री वज़ीर-ए-आज़म ने कहा कि मिस्र अपनी कोशिशों में मज़ीद शिद्दत पैदा करने से कोई पस-ओ-पेश नहीं करेगा । इसराईली जारहीयत के ख़ातमा केलिए हर किस्म की क़ुर्बानी दी जाएगी और देरपा ( मजबूत) अमन क़ायम किया जाएगा । मिस्टर हेशाम क़ंदील ने कहा कि ग़ाज़ा के हॉस्पिटल में मैंने आज जो कुछ भी देखा है और शहीदों के साथ जो भी हुआ है इस पर ख़ामोशी इख्तेयार नहीं की जा सकती ।

इस अलमीया पर ख़ामोश नहीं बैठा जा सकता । जारहीयत को रोकने के लिए सारी दुनिया को अपनी ज़िम्मेदारी निभाना होगा । वाशिंगटन ने गुज़शता रोज़ मिस्र पर ज़ोर दिया था कि वो इस इलाक़ा में पैदा शूदा कशीदा सूरत-ए-हाल पर क़ाबू पाने के लिए वो अपना असर-ओ-रसूख़ इस्तेमाल करे । तशद्दुद और जवाबी तशद्दुद में होलनाक इज़ाफ़ा के साथ ही इसराईल ने अपनी मुहिम में शिद्दत पैदा करदी है ।

इसराईली वज़ीर मोशे यअलोन ने ख़बरदार किया है कि राकेट हमलों का ख़ातमा करने केलिए इसराईल ज़मीनी फ़ौजी कार्रवाई के आग़ाज़ पर ग़ौर कर रहा है । उन्हों ने अपने सरकारी ट्वीटर पर लिखा कि तमाम रास्तों और इम्कानात पर ग़ौर किया जा रहा है । ये इम्कान भी शामिल है कि फायरिंग ना रोके जाने की सूरत में इसराईली फोर्सेस ग़ाज़ा में दाख़िले के लिए तैयार हैं ।

सरहद की इसराइली सिम्त मौजूद ए एफ़ पी के एक नामा निगार ने देखा कि सरहदी इलाक़ा में इसराईली तोप जमा हो गए हैं और हज़ारों सिपाही अपनी हंगामी डयूटी पर रुजू होने केलिए इस इलाक़ा में पहुंच रहे हैं । इसराईली तय्यारों ( विमानो) ने कल रात भर ग़ाज़ा पट्टी पर बमबारी का सिलसिला जारी रखा और फ़लस्तीनी अस्करीयत पसंदों ने यहूदी ममलकत पर राकेट हमलों का सिलसिला जारी रखा ।

हम्मास की वज़ारत-ए-दाख़िला के तर्जुमान इस्लाम शिबू एन ने दावा किया कि इसराईली जंगी तय्यारों ने कल रात से ताहाल 130 फ़िज़ाई हमला किए हैं । उन्होंने ग़ाज़ा में हज़ारों राकेट दिखाया। ग़ज़ा हंगामी ख़िदमात के तर्जुमान इदहाम अबू सलमया ने कहा कि फ़लस्तीनी महलोकेन् ( मरने वालो) की तादाद 18हो गई है जिन में कई कमसिन बच्चे भी हैं ।

36 घंटों से जारी इसराईली फ़िज़ाई हमलों में कम से कम 235 फ़लस्तीनी ज़ख्मी हुए हैं ।

TOPPOPULARRECENT