Tuesday , December 12 2017

इसराईल की फ़लस्तीनी लाशों के आज़ा चोरी करने की तरदीद

अक़वामे मुत्तहिदा में तैनात इसराईली सफ़ीर ने इस फ़लस्तीनी इल्ज़ाम को सख़्ती से मुस्तर्द कर दिया है कि हालिया दिनों में इसराईली फ़ोर्सेस के हाथों मारे जाने वाले फ़लस्तीनी नौजवानों की लाशों से कारआमद आज़ा निकाल लिए गए थे।

इसराईली सफ़ीर ने इन फ़लस्तीनी इल्ज़ामात को दुश्मनी क़रार दिया है। दो रोज़ पहले अक़वामे मुत्तहिदा में फ़लस्तीन के चीफ़ नुमाइंदे रियाज़ मंसूर ने बर्तानवी सिफ़ारतकार और सलामती कौंसिल के सदर मैथ्यू रीक्राफ्ट को एक ख़त लिखा था, जिसमें इल्ज़ाम आइद किया गया था कि इसराईली सिक्यूरिटी फ़ोर्सेस के हाथों हलाक होने वाले फ़लस्तीनीयों की लाशों से आज़ा निकाले गए हैं।

रियाज़ मंसूर की तरफ़ से सलामती कौंसिल को लिखे गए ख़त के मुताबिक़, अक्तूबर में इसराईल की क़ाबिज़ अफ़्वाज के हाथों हलाक होने वाले फ़लस्तीनीयों की लाशों की वापसी और बादअज़ां उनके तिब्बी जायज़े से ये पता चला है कि वापिस की गई लाशों में क़रीना चश्म और दीगर आज़ा नहीं थे। रियाज़ मंसूर का मज़ीद कहना था कि इन वाक़ियात से माज़ी की इन रिपोर्टों की तसदीक़ होती है कि आज़ा निकाले जाते हैं।

TOPPOPULARRECENT