इसलिए ताजमहल की मस्जिद में नमाज़ पढ़ने पर लगाई गई है रोक !

इसलिए ताजमहल की मस्जिद में नमाज़ पढ़ने पर लगाई गई है रोक !

ताज महल की मस्जिद में नमाज़ पढ़ने पर रोक लगा दी गई है. नमाज़पढ़ने से पहले जिस हौज (वज़ू खाना) पर वज़ू बनाया जाता है वहां भी ताला लगा दिया गया है. अब मस्जिद में सिर्फ शुक्रवार (जुमा) को ही नमाज़ ही पढ़ी जाएगी. जबकि अभी तक जुमा के अलावा दिन में भी देश-विदेश के पर्यटक मस्जिद में नमाज़ पढ़ते थे. रोक लगाने के संबंध में अधिकारी तर्क दे रहे हैं कि हौज को पर्यटकों की सुरक्षा के लिहाज से बंद किया गया है.

ताजमहल मस्जिद इंतजामियां कमेटी के अध्यक्ष इब्राहिम ज़ैदी का कहना है, “दो दिन पहले मस्जिद के इमाम सैय्यद सादिक अली मस्जिद में मौजूद थे. तभी वहां ताजमहल के संरक्षण सहायक अंकित नामदेव वहां आए और मौखिक रूप से इमाम साहब को वहां नमाज़ पढ़ाने और पढ़ने से मना कर दिया.

इतना ही नहीं जो पर्यटक उस वक्त वहां नमाज़ पढ़ने के जा रहे थे उन्हें भी मना कर भगा दिया. पूछने पर अधिकारियों ने कहा कि ऐसा इसलिए किया जा रहा है कि कहीं कोई पर्यटक वज़ू बनाने वाले हौज में न गिर जाए. जबकि आजतक हौज में कोई भी पर्यटक या बच्चा नहीं गिरा है.”

लेकिन इस संबंध में जब ताजमहल के संरक्षण सहायक अंकित नामदेव से बात कि गई तो उनका कहना था, “ताजमहल में सिर्फ शुक्रवार को नमाज़ पढ़ने का सुप्रीम कोर्ट का आर्डर है. इसलिए शुक्रवार के अलावा वहां नमाज़ का कोई नियम नहीं है. दूसरे पर्यटकों की सुरक्षा की द्रष्टि से भी हौज को बंद किया गया है. ऐसा करने के आर्डर हमे ऊपर से मिले हैं.”

लेकिन संरक्षण सहायक के सुप्रीम कोर्ट वाली बात पर ताजमहल मस्जिद इंतजामियां कमेटी के अध्यक्ष इब्राहिम ज़ैदी का कहना है, “ताजमहल शुक्रवार को बंद रहता है. इसलिए सुप्रीम कोर्ट ने ये कहा था कि नमाज़ के लिए ताजमहल शुक्रवार को भी खोला जाए. न कि ये कहा था कि सिर्फ शुक्रवार को ही नमाज़ होगी.”

Top Stories