Sunday , December 17 2017

इसाई टीचर को है मुसलमान हो जाने पर गर्व

रियाद: लोरना जो पहले एक कैथोलिक टीचर थीं, इस्लाम धर्म में आने के बाद वो गर्व महसूस कर रही हैं.
उन्होंने एक प्रोग्राम के दौरान बताया कि इस्लाम में दाख़िल होने से पहले मैं एक कैथोलिक थी, उसके बाद मैं सऊदी अरब आई कि यहाँ मुझे बेहतर ज़िन्दगी मिलेगी.
उन्होंने बताया कि यहाँ मेरे स्पोंसर ने मुझे लाइब्रेरी की ताक़ की सफाई का काम दिया जहाँ मुझे क़ुरान-ए-पाक का तर्जुमा मिला. “मैंने अपने स्पोंसर से पूछा कि क्या मैं क़ुरान पढ़ सकती हूँ, उन्होंने मेरे विचार का समर्थन किया” लोरना ने कहा.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

ये प्रोग्राम नए मुसलमानों का सम्मान करने के ऐतबार से रखा गया था.

उन्होंने कहा कि मुझे मुसलमान हो जाने पर गर्व महसूस हो रहा है. मोना नस्सेर अल ख़ालिदी ने नए मुसलमानों को मुबारकबाद पेश की

TOPPOPULARRECENT