इस्तांबुल नाइट क्लब का हमलावर पकड़ा गया

इस्तांबुल नाइट क्लब का हमलावर पकड़ा गया

इस्तांबुल: तुर्क मीडिया ने खबर दी है कि नए साल के उत्सव के मौके पर इस्तांबुल के रैना क्लब में हमला कर कई लोगों की हत्या करने वाले हमलावर को गिरफ्तार कर लिया गया है। माना जा रहा है कि अब्दुल कादिर माशार प्योफ़ ने रैना क्लब में नए साल की पार्टी के मौके पर गोलीबारी की जिससे 39 लोग मारे गए।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

बीबीसी की रिपोर्टों के अनुसार उन्हें इस्तांबुल के एस्सेन यौर्त क्षेत्र से पकड़ा गया है। रैना क्लब के हमले में स्थानीय निवासियों के अलावा इज़राइल, फ्रांस, बेल्जियम ट्यूनीशिया, लेबनान, भारत, जॉर्डन और सऊदी अरब के नागरिक मारे गये या घायल हुए थे।

चरमपंथी संगठन IS ने दावा किया था कि यह हमला उसने करवाया है, और कहा था कि यह तुर्की की सीरिया में सैन्य हस्तक्षेप के जवाब में किया गया है। 31 दिसंबर और एक जनवरी की रात को एक हमलावर टैक्सी के माध्यम से क्लब पहुंचा और वाहन कि डिकी से लंबी नाल वाली बंदूक निकालकर फायरिंग शुरू कर दी।

इस्तांबुल से बीबीसी के संवाददाता मार्क लवोन कहते हैं कि इस गिरफ्तारी से तुर्क अधिकारियों के सिर से बहुत भारी बोझ उतर गया होगा। हालांकि अब उनके लिए बड़ी चुनौती यह है कि वह खुफिया ऑपरेशन में तेजी लाते हुए आतंकवाद की इस लहर पर बांध बांधने की कोशिश करे जिसने तुर्की को अपनी चपेट में ले रखा है।

तुर्क मीडिया के अनुसार अब्दुल कादिर ने पूर्व तुर्की के शहर कोन्या में एक फ्लैट किराए पर लिया था और वह वहां एक औरत, जिसके बारे में लगता है कि वह उनकी पत्नी हैं, और दो बच्चों के साथ रहते थे। तुर्की एन टीवी ने कहा है कि पुलिस ने उन्हें एक करगज़ दोस्त के घर से गिरफ्तार किया।

Top Stories