Wednesday , November 22 2017
Home / Kashmir / इस्लाम का असर, कर्फ्यू के बावज़ूद जान को जोखिम में डाल जुवेदा बेगम ने पंडित परिवार को खाना पहुंचाया

इस्लाम का असर, कर्फ्यू के बावज़ूद जान को जोखिम में डाल जुवेदा बेगम ने पंडित परिवार को खाना पहुंचाया

कश्मीर में हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद भड़की हिंसा में अब तक 30 लोगों की जान जा चुकी है. श्रीनगर समेत कई जिलों में कर्फ्यू लगा हुआ है. लेकिन इसी तनावपूर्ण माहौल के बीच जो तस्वीर सामने आती है, वो सुकून देने वाली होती है. कश्मीरी मुस्लिम महिला और उनके पति कर्फ्यू में बाहर निकलकर एक पंडित परिवार तक खाना पहुंचाते हैं.

जुबेदा बेगम इस हालात में मनावता का साथ नहीं छोड़ती हैं और कर्फ्यू की चिंता किए बिना अपने पति के साथ मिलकर एक पंडित परिवार तक खाना पहुंचाती हैं. जुबेदा और उनके पति श्रीनगर की सुनसान सड़कों पर खाने का सामान लेकर अपने पंडित दोस्त के घर तक जाते हैं.

जुबेदा और उनके पति अपनी जान को खतरे में डालकर उस पंडित परिवार तक पहुंचते हैं, जिन्होंने फोन कर इन्हें अपनी दुर्दशा बताई. जुबेदा ने कहा कि उसने मुझे सुबह फोन किया और कहा कि उनके परिवार को खाने की जरुरत है. उनके साथ उनकी बीमार दादी भी है. मैं उनके लिए खाना ले जा रही हूं. ये मुश्किल है, लेकिन हम कोशिश कर रहे हैं.

जोखिम भरे सफर के बाद ये मुस्लिम जोड़ा दीवानचंद के घर पहुंचता है. दीवानचंद ने कहा, ‘यहां सब लोग पीड़ित हैं. ऐसे मैं इनका यहां आना इंसानियत है. मैं इनका शुक्रगुजार हूं.’

TOPPOPULARRECENT