Tuesday , November 21 2017
Home / Khaas Khabar / इस्लाम या मुस्लमानों की मुख़ालिफ़त ना करने अमरीकीयों से अपील

इस्लाम या मुस्लमानों की मुख़ालिफ़त ना करने अमरीकीयों से अपील

वाशिंगटन 13दिसंबर:अमरीकी टाउन सान बरनारडीनो में 14 अफ़राद की हलाकत के सबब बनने वाले दहश्तगर्द हमले के बाद मुल्क में बढ़ते मुख़ालिफ़ मुस्लिम जज़बात-ओ-एहसासात के दरमियान सदर बराक ओबामा ने अपने शहरीयों से कहा के वो किसी भी किस्म की मुश्तबा सरगर्मीयों के ख़िलाफ़ चौकस रहें और अपील की के इस्लाम के ख़िलाफ़ जज़बात-ओ-एहसासात पैदा ना होने दें।

सदर ओबामा ने अपने हफ़्ता-वार वेब और रेडीयो ख़िताब में अमरीकीयों से कहा कि वो एक दूसरे के ख़िलाफ़ किसी लड़ाई में शामिल ना हूँ जिसकी तशरीह अमरीका और इस्लाम के दरमियान लड़ाई के तौर पर की जाएगी, क्युंकि इस्लामिक स्टेट (दाश) भी यही चाहता है और एसी लड़ाई की सूरत में ना सिर्फ दाश के अज़ाइम को तक़वियत मिलेगी बल्कि अमरीकी दाख़िली सलामती पामाल होगी।

ओबामा ने कहा कि पैरिस और सान बरनारडीनो दहश्तगर्द हमलों के बाद में जानता हूँ के कई अमरीकी पूछ रहे हैं के मैं क्या करसकता हूँ? हमेशा की तरह सबसे पहले हमें चाहीए कि पूरी तरह चौकस रहीं। उन्होंने कहा कि इस्लामिक स्टेट जैसे दहश्तगर्द ग्रुप मज़हबी ख़ुतूत पर हमें तक़सीम करने की कोशिश कर रहे हैं।

सारी दुनिया के मुस्लमान दाश की गुमराह कुन तशरीहात मुस्तर्द कर चुके हैं और हमें भी इन तशरीहात को मुस्तर्द कर देना चाहीए। ओबामा ने कहा कि ईसाई और यहूदी इबादत-गाहों के ज़िम्मेदार मुक़ामी मसाजिद को पहूंच कर आपसी इत्तेहाद का मुज़ाहरा करेंगे और अमरीकी अवाम कई बहादुर मुस्लिम सिपाहीयों के मशकूर हैं।

TOPPOPULARRECENT