Thursday , November 23 2017
Home / India / इस्‍लाम में ख्वातीन को समझते हैं पैरों की जूती, फतवों से न चले देश : एमपी साक्षी महाराज 

इस्‍लाम में ख्वातीन को समझते हैं पैरों की जूती, फतवों से न चले देश : एमपी साक्षी महाराज 

उन्‍नाव : बीजेपी एमपी साक्षी महाराज ने कहा है कि इस्‍लाम में महिलाओं को पैरों की जूती समझा जाता है। न्‍यूज एजेंसी एएनई के एक वीडियो में वे ऐसा कहते नजर आते हैं। सांसद ने महिलाओं के मस्‍ज‍िद में घुसने के लिए कोर्ट द्वारा दखल देने की भी मांग की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, साक्षी महाराज ने यह बयान उन्‍नाव में दिया।
साक्षी महाराज ने कहा, ”कोर्ट को इस्‍लाम मज़हब के क्षेत्र में भी मुदाख़िलत करना चाहिए जहां औरतों  को सिर्फ और सिर्फ पैरों की जूती समझा जाता है। जैसे जूती की जरूरत हो तो पहन लो और न जरूरत हो तो उतार के बाहर खड़ी कर दो उसको। उसके लिए इस्‍लाम की महिलाएं आंदोलनरत हैं। वो मांग उठा रही हैं। जिस तरह से हिंदुओं के मौजू में कोर्ट मुदाख़िलत कर रहा है, मैं माननीय अदालत से उम्मीद करना चाहूंगा कि उन्‍हें इस्‍लाम के संदर्भ में भी मुदाख़िलत करना चाहिए। वो भी तुम्‍हारी मां हैं, वो भी तुम्‍हारी बहनें हैं। उनके साथ भी तो इन्साफ हो रहा है। वहां भी तो अन्‍याय न हो पाए। उन्‍हें भी वे सारे हक मिलें जो इंसान को मिलते हैं। इस संदर्भ में मैं कहना चाहता हूं कि सबको बराबर का हक़   होना चाहिए। देश फतवों से नहीं चलना चाहिए। ये देश भारत के क़ानून के मुताबिक चले। ये सरकार को भी और अदालत को सुनिश्‍च‍ित करने की जरुरत  है।”

TOPPOPULARRECENT