Monday , December 18 2017

ईख़वानुल मुसलमीन को बरसर-ए-इक़तिदार आने से रोकने अमरीकी साज़िशें

कराची। 11 जनवरी (एजैंसीज़) मिस्र के इंतिख़ाबात में ज़बरदस्त अक्सरीयत से कामयाबी हासिल करनेवाली इस्लामी तहरीक ईख़वानुल मुसलमीन को इक़तिदार से दूर रखने केलिए दूसरे और तीसरे नंबर पर आने वाली पार्टीयों और चंद आज़ाद अरकान पर मुश्तम

कराची। 11 जनवरी (एजैंसीज़) मिस्र के इंतिख़ाबात में ज़बरदस्त अक्सरीयत से कामयाबी हासिल करनेवाली इस्लामी तहरीक ईख़वानुल मुसलमीन को इक़तिदार से दूर रखने केलिए दूसरे और तीसरे नंबर पर आने वाली पार्टीयों और चंद आज़ाद अरकान पर मुश्तमिल डैमोक्रेटिक ग्रुप को बरसर-ए-इक़तिदार लाने केलिए मिस्र की फ़ौज ने तरग़ीब देना शुरू कर दिया है ।

ताहम ईख़वानुल मुसलमीन के मुर्शिद आम ने वाज़ेह पैग़ाम दिया है कि अगर अक्सरीयत को तस्लीम नहीं किया गया तो मुल्क में इंतिशार फैलेगा, अवाम ऐसी हुकूमत तस्लीम नहीं रेंगे , जिसे अवाम की ताईद हासिल ना हो। ईख़वानुल मुसलमीन ने फ़ौज को पैग़ाम दिया है कि वो दाख़िली साज़िशों से बाज़ आजाए। ईख़वानुल मुसलमीन को 32 साल बाद हुकूमत बनाने के लिए 63 फ़ीसद वोट हासिल हुए हैं। अमरीका और इसराईल में ईख़वानुल मुसलमीन की कामयाबी से खलबली मच गई है।

TOPPOPULARRECENT