Monday , June 18 2018

ईरान का कहना है कि संयुक्त राष्ट्र के युद्धविराम का सम्मान होगा, लेकिन ‘आतंकवादी क्षेत्रों’ पर हमले जारी रहेंगे

A handout picture released by the Syrian Arab News Agency (SANA) on October 19, 2017 shows Syrian President Bashar al-Assad (C) receiving Iranian Chief of Staff Major General Mohammad Hossein Bagheri (L) in the capital Damascus. / AFP PHOTO / SANA / Handout / RESTRICTED TO EDITORIAL USE - MANDATORY CREDIT "AFP PHOTO / SANA" - NO MARKETING NO ADVERTISING CAMPAIGNS - DISTRIBUTED AS A SERVICE TO CLIENTS

ईरान ने कहा कि दमिश्क के निकट विद्रोही क्षेत्रों पर हमले जारी रहेगा, जहां रविवार को सीरिया भर में 30 दिनो के लिए यूद्धविराम पर संयुक्त राष्ट्र के संकल्प के बावजूद विद्रोहियों और सरकारी बलों के बीच संघर्ष का पता चला था। तसनीम समाचार एजेंसी ने इसके प्रमुख कर्मचारियों के हवाले से कहा है की हमले दमिश्क के नजदीकी इलाकों में जारी रहेगा, जहां आतंकवादियों ने कब्जा कर रखा है । निवासियों, बचाव दल, और मानवाधिकार के लिए सीरियाई ओब्जरवेटरी ने कहा है की यूद्धकपोत और तोपखाने से पूर्वी घौता एन्क्लेव में कुछ कस्बों पर हमला हुआ है ।

ब्रिटेन बेस्ड युद्ध निगरानी समूह, ओब्जरवेटरी ने कहा कि रविवार के बम विस्फोट पिछले सप्ताह के दौरान हमलों की तुलना में कम तीव्र था। विद्रोहियों ने कहा कि वे रविवार को शुरुआती घंटों में कई मुख्यालयों पर सरकारी बलों से भिड़ गए थे। सीरिया के सैन्य से तत्काल कोई टिप्पणी नहीं आई है।

ईरानी जनरल मोहम्मद बाकेरी, जिसका सरकार सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद का समर्थन करती है, ने कहा कि तेहरान संयुक्त राष्ट्र के संकल्प का सम्मान करेंगे। बाक़ीरी ने कहा कि ईरान और सीरिया इसका पालन करेंगे। लेकिन “दमिश्क के उपनगरों के कुछ हिस्सों, जो आतंकवादियों द्वारा नियंत्रण किए जाते हैं, वहाँ युद्धविराम नहीं किए जा सकते हैं। वहाँ संचालन जारी रहेगा,” पिछले सात सालों से सीरिया युद्ध में उलझ गया है, जहां ईरान और रूस असद की सेना के प्रमुख सहयोगी हैं।

TOPPOPULARRECENT