Tuesday , December 12 2017

ईरान का चालीस टन भारी पानी अमरीका ख़रीदेगा

ईरान अपने जौहरी गोदाम में महफ़ूज़ भारी पानी का एक हिस्सा अमरीका को फ़रोख्त करेगा। भारी पानी फ़रोख्त करने की डील गुज़िश्ता बरस तय पाने वाली जौहरी डील का हिस्सा है।

ईरान के जौहरी तवानाई के क़ौमी इदारे के नायब अली असग़र ज़रीन ने तसदीक़ की है कि सन 2014 में आलमी ताक़तों के साथ ईरान की जौहरी डील के तहत ईरान की जौहरी तन्सीबात में इस्तेमाल करने के लिए ज़ख़ीरा किए गए भारी पानी के एक हिस्से को अमरीका ख़रीदेगा।

ज़रीन ने इस की तरदीद की अराक में क़ायम जौहरी प्लांट के मर्कज़ी हिस्से को ख़त्म करने के सिलसिले में उसे के मर्कज़ी हिस्से को हटा दिया गया है। अराक में क़ायम जौहरी प्लांट ईरान की जौहरी तन्सीबात में ख़ासी अहमीयत का हामिल है।

ईरान के पास इज़ाफ़ी भारी पानी की फ़रोख्त जौहरी डील का एक अहम हिस्सा है और आलमी पाबंदीयों को ख़त्म करने की जानिब इंतिहाई क़दम ख़्याल किया जाता है। ईरान की जानिब से फ़रोख्त किए जाने वाले भारी पानी की मिक़दार चालीस टन है और तेहरान हुकूमत बराह-ए-रस्त अमरीका को ये फ़रोख्त नहीं करेगा बल्कि एक तीसरे मुल्क को शामिल कर के उसे फ़रोख्त किया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT