Wednesday , December 13 2017

ईरान का मग़रिबी (पश्चिमी) ममालिक ( बहुत से देश/ देशों) को इंतेबाह ( चेतावनी )

ईरान ने मग़रिबी ममालिक को मुतनब्बा करते हुए कहा कि न्यूक्लीयर प्रोग्राम के मुआमला में इस पर दबाव डालने से मुज़ाकरात में रुकावट पैदा हो सकती है। सरकारी टेलीविज़न ने ईरान के चीफ़ न्यूक्लीयर मुज़ाकरात कार सईद जलीली के हवाले से कल ये ख़बर

ईरान ने मग़रिबी ममालिक को मुतनब्बा करते हुए कहा कि न्यूक्लीयर प्रोग्राम के मुआमला में इस पर दबाव डालने से मुज़ाकरात में रुकावट पैदा हो सकती है। सरकारी टेलीविज़न ने ईरान के चीफ़ न्यूक्लीयर मुज़ाकरात कार सईद जलीली के हवाले से कल ये ख़बर दी।

टेलीविज़न के मुताबिक़ जलीली ने कहा कि दबाव की हिक्मत-ए-अमली का दौर ख़त्म ( समाप्त) हो चुका है इस की वजह से बग़दाद में होने वाली बातचीत ख़तरे में पड़ सकती है। जलीली अमेरीका , रूस, चीन ,फ़्रांस, बर्तानिया और जर्मनी के साथ 23 मई को बग़दाद में होने वाली बातचीत के पेशे नज़र ईरान के दौरे पर आए हुए फ़्रांस के साबिक़ ( पूर्व) वज़ीर-ए-आज़म मशील रो कार्ड के साथ बातचीत कर रहे थे।

उन्हों ने कहा कि मग़रिबी ममालिक ( पश्चिमी देशों) को तमाम मुआमलात को समझे बगै़र बातचीत पर कोई तब्सिरा ( वार्तालाप) नहीं करना चाहीए। योरोपी ममालिक की ग़ैर मुल्की उमूर की सरबराह ( संस्थापक) कैथरीन एश्टन ने उम्मीद ज़ाहिर करते हुए कहा था कि ईरान के न्यूक्लीयर हथियारों के प्रोग्राम तर्क करने पर बातचीत की जाएगी । मग़रिबी मुल्कों को अंदेशा है कि ईरान न्यूक्लीयर हथियार प्रोग्राम फ़रोग़ देने में मसरूफ़ है जबकि ईरान का कहना है कि इस का प्रोग्राम बिजली पैदा करने जैसे पुरअमन मक़ासिद ( मकसदों) के लिए है।

ईरान न्यूक्लीयर अदम फैलाव मुआहिदा पर दस्तख़त करने वाले ममालिक में शामिल है, जिस के तहत उस को पुरअमन मक़ासिद के लिए न्यूक्लीयर प्रोग्राम पर अमल आवरी की इजाज़त है। मग़रिबी ममालिक इस पर हथियारों की तैयारी का बेबुनियाद इल्ज़ाम आइद कर रहे हैं

TOPPOPULARRECENT