Thursday , December 14 2017

ईरान तनाज़ा को हल करने सिफ़ारती रास्ते हनूज़ खुले

सदर अमेरीका बारक ओबामा ने दौरा कुनुंदा इसराईली लीडर को ये यक़ीन दहानी कराई है कि अमेरीका हमेशा इसराईल की ताईद-ओ-हिमायत करेगा। उन्होंने कहा है कि अमेरीका और इसराईल इस बात से भी इत्तेफ़ाक़ करते हैं कि ईरान के इमकानी न्यूक्लीयर बोहर

सदर अमेरीका बारक ओबामा ने दौरा कुनुंदा इसराईली लीडर को ये यक़ीन दहानी कराई है कि अमेरीका हमेशा इसराईल की ताईद-ओ-हिमायत करेगा। उन्होंने कहा है कि अमेरीका और इसराईल इस बात से भी इत्तेफ़ाक़ करते हैं कि ईरान के इमकानी न्यूक्लीयर बोहरान की डिप्लोमेसी के ज़रीया यकसूई की जानी चाहीए ।

ओबामा और वज़ीर-ए-आज़म इसराईल बिंजा मन नितिन याहू (Benjamin Netanyahu)ने वाईट हाउस (White House) में ईरान की सूरत-ए-हाल पर कई घंटे तबादला-ए-ख़्याल किया । इन दोनों ने सिफ़ारती ज़राए से ये बोहरान हल करने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया है। अमेरीका ने वाज़िह किया है कि ईरान की जानिब से न्यूक्लीयर बम की तैयारी नाक़ाबिल‍ ए‍ कुबूल है और इस सूरत-ए-हाल से निमटने के लिए तमाम रास्ते खुले हैं ।

नितिन याहू ने कहा है कि इसराईल और अमेरीका का मौक़िफ़ यकसाँ है। उन्होंने बताया कि इसराईल एक ख़ुदमुख्तार ममलकत है और उसे दिफ़ा का हक़ हासिल है । नितिन याहू ने कहा है कि इसराईल अपने मुस्तक़बिल का ख़ुद फ़ैसला करेगा । ओबामा ने ईरान पर हमले के सिलसिला में इसराईल को किसी तरह की जल्दबाज़ी ना करने का मश्वरा दिया है ।

बताया जाता है कि इसराईल ने ईरान पर हमला करने की धमकी दी थी । लेकिन ओबामा का ये मौक़िफ़ है कि तेहरान के ख़िलाफ़ आइद मआशी तहदीदात के असरात ज़ाहिर होने के लिए मज़ीद वक़्त दिया जाए । इजलास से क़ब्ल ओबामा ने वाज़िह तौर पर कहा कि अमरीका हमेशा इसराईल की ताईद करता रहेगा । उन्होंने ये भी वाज़िह किया कि ईरान को न्यूक्लीयर हथियार हासिल करने से रोका जाएगा ।

उन्हों ने कहा कि इस मसला की सिफ़ारती सतह पर यकसूई के लिए रास्ते हनूज़ खुले हैं । दूसरी तरफ़ नितिन याहू का ये मौक़िफ़ था कि इसराईल को किसी भी ख़तरे से निमटने के लिए ख़ुद के दिफ़ा का हक़ हासिल है ।दोनों क़ाइदीन ने अगरचे इत्तेहाद का मुज़ाहरा किया लेकिन ईरान के ताल्लुक़ से दोनों के इख्तेलाफ़ात वाज़िह थे ।

मालेगावँ धमाके लोकेश को एन आई ए तहवील में दिए जाने को चैलेंज मालेगावँ बम धमाके मुक़द्दमा के मुल्ज़िम लोकेश शर्मा ने बंबई हाइकोर्ट से रुजू होकर नैशनल इंवेस्टीगेशन एजेंसी ( एन आई ए ) की तहवील में देने ख़ुसूसी अदालत के हुक्म को चैलेंज किया है । लोकेश के वकील गणेश सिवानी ने अदालत को बताया कि एन आई ए ने लोकेश को रस्मी तौर पर गिरफ़्तार भी नहीं किया फिर वो उसे तहवील में कैसे ले सकती है।

उन्होंने कहा है कि दिल्ली में एन आई ए हेडक्वार्टर में लोकेश को हरासाँ किया जा रहा है । डीवीजन बंच ने इस मुआमला की आइन्दा समाअत 7मार्च को मुक़र्रर की है ।

TOPPOPULARRECENT