Wednesday , December 13 2017

ईरान पर भरोसा नहीं किया जा सकता – नितिनयाहू

वज़ीरे आज़म इसराईल बेंजामिन नितिनयाहू ने ईरान और आलमी ताक़तों के दरमयान न्यूक्लीयर मुआहिदा के चौखटे पर इत्तिफ़ाक़े राय के ख़िलाफ़ अपनी तन्क़ीद जारी रखते हुए इंतिबाह दिया कि इस्लामी जमहूरीया ईरान पर भरोसा नहीं किया जा सकता।

वज़ीरे आज़म इसराईल बेंजामिन नितिनयाहू ने ईरान और आलमी ताक़तों के दरमयान न्यूक्लीयर मुआहिदा के चौखटे पर इत्तिफ़ाक़े राय के ख़िलाफ़ अपनी तन्क़ीद जारी रखते हुए इंतिबाह दिया कि इस्लामी जमहूरीया ईरान पर भरोसा नहीं किया जा सकता।

ये उभरता हुआ सौदा जिस के तहत ईरान अपनी न्यूक्लीयर सरगर्मीयों में तख़फ़ीफ़ कर देगा और उस के इव्ज़ उसे ताज़ीरी मआशी तहदीदात से राहत हासिल हो जाएगी। तवील बातचीत के बाद स्वीटज़र लैन्ड के शहर लोसान में मुज़ाकरात का 2 अप्रैल को ईरान के मुतनाज़ा न्यूक्लीयर प्रोग्राम पर मुआहिदा के बारे में एक चौखटे से इत्तिफ़ाक़े राय कर चुके हैं।

इस के नतीजा में इसराईल ने बार बार इसे तारीख़ी ग़लती क़रार देते हुए उस की मुज़म्मत की है। नितिनयाहू ने कहा कि उन्हें अफ़सोस है कि उन्हों ने जिन बातों का इंतिबाह दिया था वो तमाम चौखटे मुआहिदा में यकजा करदी गई है और लोसान में ये मुआहिदा हमारी आँखों के सामने हक़ीक़त बन गया है।

इसराईल मशरिक़ी वुस्ता का वाहिद मुल्क है ताहम उस ने ऐलान नहीं किया है कि उस के पास न्यूक्लीयर हथियारों का ज़ख़ीरा मौजूद हैं ताहम उस की जानिब से इस इत्तिला की कभी तरदीद भी नहीं की गई।

TOPPOPULARRECENT