ईरान में महामारी बना कोरोना, हजारों लोगों की जांच कराएगी सरकार

ईरान में महामारी बना कोरोना, हजारों लोगों की जांच कराएगी सरकार

दक्षिण कोरिया  के दाएगू, इटली के लुम्बार्डी और ईरान के तीन शहरों तहरान, कौम और जिलान में कोरोना वायरस के मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन  यह स्वीकार कर चुका है कि वायरस महामारी की तरह फैल रहा है। दुनिया के शेयर बाजार धड़ाधड़ गिर रहे हैं। एक अनुमान के अनुसार यह वायरस अब तक दुनिया के बाजारों को 5 लाख करोड़ की चपत लगा चुका है।

चीन ने बढ़ाया ईरान की मदद का हाथ
ईरान हजारों लोगों की कोरोना वायरस जांच कराने की तैयारी कर रहा है। ईरान की राजधानी तेहरान और दो अन्य शहरों कौम तथा जिलान में इसके मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता कियांउश जहांपुर ने कहा कि ईरान में कोरोना वायरस के 593 पुष्ट मामलों में से 43 व्यक्तियों की मौत हो गई है। ईरान की मदद के लिए चीन भी आगे आया है, उसने जांच के लिए विशेषज्ञों का दल भेजा है।

ईरान में सबसे ज्यादा है कोरोना की मृत्यू दर
ईरान में ज्ञात मामलों की संख्या बनाम वायरस से होने वाली मृत्यु की दर सात प्रतिशत से अधिक है, जो कि अन्य देशों से ज्यादा है। इसने विश्व स्वास्थ्य संगठन और अन्य जगह के विशेषज्ञों को इस बात को लेकर ङ्क्षचतित कर दिया है कि कहीं ईरान संक्रमित होने वालों की संख्या कम करके तो नहीं बता रहा है। ईरान ने सड़कों पर स्प्रे करने वाले ट्रक और फ्यूमीगेटर उतार दिये हैं, इसके बावजूद अधिकारी वायरस की पहुंच को कमतर करके पेश करने का प्रयास कर रहे हैं। बीबीसी ने सूत्रों के हवाले से अपनी रिपोर्ट में ईरान में कोरोना से मरने वालों की संख्या 210 बताई थी। जहांपुर ने इस खबर को गलत बताया। ईरान में 43 व्यक्तियों की मौत हुई है। ईरान में मृतक संख्या चीन के बाहर सबसे अधिक है। शनिवार को 593 पुष्ट मामलों की नयी संख्या यह दिखाती है कि 205 मामलों की वृद्धि हुई है जो कि एक दिन पहले 388 मामलों से 150 प्रतिशत की वृद्धि है। जहांपुर ने चेतावनी दी है कि ईरान में पुष्ट मामलों की संख्या में भारी वृद्धि होगी क्योंकि देश में अब इस वायरस की जांच के लिए 15 प्रयोगशालाएं हैं।

 

Top Stories