Wednesday , January 17 2018

ईरान: सरकार के खिलाफ बोलने पर पूर्व राष्ट्रपति की बेटी को छह महीने की सज़ा

तेहरान: ईरान की क्रांति अदालत ने पूर्व राष्ट्रपति अली अकबर हाशमी रफसंजानी की बड़ी बेटी फायज़ा रफसंजानी को सरकार की आलोचना के आरोप में छह महीने की कैद का आदेश दिया है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

अलअरबिया डॉट नेट के अनुसार पूर्व राष्ट्रपति स्वर्गीय रफसंजानी की साहबज़ादी फायज़ा रफसंजानी पर आरोप आयद किया गया है कि उसने सरकार और ‘पास्दाराने इनकलाब’ के खिलाफ गलत बातें कही हैं। झूठ बोला है, जनमत को गुमराह करने की कोशिश की और ईरानी रजीम के खिलाफ प्रोपगैन्डा करते हुए सरकारी संस्थाओं और व्यक्तित्व की चरित्र हनन की है। इन आरोपों के तहत फायज़ा पर मुकदमा चलाया गया और अदालत ने उसे छह महीने कैद की सजा का आदेश दिया है।

समाचार वेब पोर्टल ‘कलमा’ के अनुसार तेहरान की एक अदालत ने फ़ायज़ा रफसंजानी को छह महीने की सजा सरकार की आलोचना के आरोप में सुनाई है। रिपोर्ट के मुताबिक़ फायज़ा पर आरोप था कि उसने ईरानी न्यायिक परिषद के अध्यक्ष अयातुल्ला अली सादिक आमली लॉरी जानी को उस समय आलोचना का निशाना बनाया था, जब सुधारकों ने खुलासा किया था कि आमली के 63 निजी बैंक एकाउंट्स में करोड़ों की रकम मौजूद हैं । तथा नागरिकों की रकम से प्राप्त होने वाला लाभ भी इन खातों को स्थानांतरित किया जाता है।

फायज़ा रफसंजानी की गिनती उन ईरानी नेताओं में होता है जो गाहे-ब-गाहे सरकार पर और राज्य के संस्थाओं के भ्रष्टाचार पर आवाज बुलंद करती रहती हैं। फायज़ा को पहली बार जेल नहीं भेजा गया बल्कि वह अतीत में भी सरकार की आलोचना के आरोप में जेलों की हवा खा चुकी हैं।

TOPPOPULARRECENT