ईरान से पैसा और फ़ौजी साज़ो सामान हासिल होने का हिज़्बुल्लाह का इन्किशाफ़

ईरान से पैसा और फ़ौजी साज़ो सामान हासिल होने का हिज़्बुल्लाह का इन्किशाफ़

लबनान मैं हिज़्बुल्लाह के लीडर सय्यद हसन नस्रूल्लाह ने कल पहली बार इस बात का एतराफ़ किया है कि इन की शिद्दत पसंद तहरीक को माली और फ़ौजी साज़-ओ-सामान की मदद ईरान से मिलती है लेकिन वो इस मुल्क से कोई हिदायत नहीं लेता । नस्रूल्लाह ने

लबनान मैं हिज़्बुल्लाह के लीडर सय्यद हसन नस्रूल्लाह ने कल पहली बार इस बात का एतराफ़ किया है कि इन की शिद्दत पसंद तहरीक को माली और फ़ौजी साज़-ओ-सामान की मदद ईरान से मिलती है लेकिन वो इस मुल्क से कोई हिदायत नहीं लेता । नस्रूल्लाह ने कहा कि हिज़्बुल्लाह पहले ये एतराफ़ करता था कि ईरान उसे सयासी अख़लाक़ी हिमायत देता है,

क्यों कि वो ये नहीं चाहता था कि ईरान में इस के भाईयों को किसी मुसीबत का सामना करना पड़े लेकिन अब पालिसी को बदल दिया गया है क्यों कि ईरान की क़ियादत ने अपनी ताईद बरसर-ए-आम ज़ाहिर करदी है। नस्रूल्लाह ने वीडीयो लिंक के ज़रीया अपने हामीयों से ख़िताब करते हुए कहा हाँ साल 1982 के बाद से उन की तंज़ीम को इस्लामी जमहूरीया ईरान अख़लाक़ी, सयासी और साज़ो सामान की मदद हर मुम्किन तरीक़े से देता रहा है।

अब तक हम उसे सिर्फ निम सच ही कहते थे और निम सच पर ख़ामोशी इख़तियार करते थे। जब हम से साज़ो सामान और माली-ओ-फ़ौजी इमदाद के बारे में पूछा जाता था तो हम ख़ामोशी इख़तियार करते थे।

Top Stories