Thursday , January 18 2018

ई. अहमद के सियासी सफर पर एक नज़र

नई दिल्ली। ई. अहमद का आज निधन हो गया। कल राष्ट्रपति के अभिभाषण के दौरान उन्हें दिल का दौरा पड़ा था। वकालत के रूप में अपनी करियर शुरू करने वाले ई अहमद का जन्म केरल के कन्नूर जिले में हुआ था। केरल विधानसभा से अपनी करियर की शुरुआत करने वाले अहमद लगातार पांच सत्र तक विधायक रह चुके थे। 1967 से 1991 तक के बीच अहमद विधायक रहे।

ई. अहमद सात बार सांसद व पांच बार एमएलए रह चुके हैं। उस दौरान वे केरल के उद्योग मंत्रालय का पद भी संभाला। 1991 में पहली बार वे लोकसभा का सांसद बने।

बतौर सांसद उन्होंने संसद में कई महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों को संभाला। तीन किताबों के लेखक ई. अहमद कई महत्वपूर्ण संस्थाओं, सांस्कृतिक संगठन और समाजिक संगठन से जुड़े थे।

2004 में मनमोहन सिंह की सरकार जब बनी तब ई अहमद विदेश राज्य मंत्री का पद संभाला था। यूपीए – दो के दौरान उन्हें रेलवे और मानव संसाधन विभाग के मंत्रालय का पदभार भी संभाला।

TOPPOPULARRECENT