Saturday , April 21 2018

ई आई एल हिसस की फ़रोख़त को हुकूमत की मंज़ूरी

नई दिल्ली :हुकूमत ने आज इनजीनियर्स इंडिया लिमेटेड (ई आई एल) के 10 फ़ीसद हिस्सा फ़रोख़त करने की मंज़ूरी दे दी और तवक़्क़ो ज़ाहिर की कि इस से हुकूमत को तक़रीबन 800 करोड़ रुपय हासिल होंगे। काबीनी कमेटी बराए मआशी उमोर के एक इजलास के बाद मर्कज़ी

नई दिल्ली :हुकूमत ने आज इनजीनियर्स इंडिया लिमेटेड (ई आई एल) के 10 फ़ीसद हिस्सा फ़रोख़त करने की मंज़ूरी दे दी और तवक़्क़ो ज़ाहिर की कि इस से हुकूमत को तक़रीबन 800 करोड़ रुपय हासिल होंगे। काबीनी कमेटी बराए मआशी उमोर के एक इजलास के बाद मर्कज़ी वज़ीर फ़ीनानस पी चिदम़्बरम ने प्रैस कान्फ़्रैंस से ख़िताब करते हुए कहा कि फ़िलहाल ई आई एल में हुकूमत के हिस्सा 80.40 फ़ीसद हैं।

हुकूमत ने 10 फ़ीसद हिस्से से तख़फ़ीफ़ सरमायाकारी बज़रीया एफ़ पी ओ मंज़ूरी दी है। दरीं असना मर्कज़ी काबीना ने सरकारी ज़ेर-ए‍इंतेज़ाम बैंकों में 12,517 करोड़ रुपय सरमाया मशग़ूल करने का फ़ैसला किया है ताकि इन बैंकों की क़र्ज़ फ़राहम करने की सरगर्मी में इज़ाफ़ा हो सके और काफ़ी सरमाए के मयारों की भी तकमील होसके। मर्कज़ी वज़ीर फ़ीनानस पी चिदम़्बरम ने रेलवे किरायों में इज़ाफे की ताईद करते हुए कहा कि ये एक सेहत मंद मआशी फ़ैसला है।

TOPPOPULARRECENT