उज़्मा ने अपने वतन की मिट्टी को चूमा, कहा- पाकिस्तान ‘मौत का कुआं’, वहां से लौटना आसान नहीं

उज़्मा ने अपने वतन की मिट्टी को चूमा, कहा- पाकिस्तान ‘मौत का कुआं’, वहां से लौटना आसान नहीं
Click for full image

तमाम मुश्किलें और कानूनी परेशानियां झेलने के बाद आख़िरकार उज़्मा अहमद अपने वतन भारत लौट आई है । अपनी सरज़मी पर आते ही उज़्मा ने हिंदुस्तान की मिट्टी को चूमा और खु़दा शुक्र मनाया ।

उज़्मा अहमद ने कहा कि पाकिस्तान एक ‘मौत का कुआं,’ है वहां जाना तो आसान है लेकिन लौटना बहुत मुश्किल है। बंदूक की नोक पर शादी की शिकार हुईं उज़्मा और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की जॉइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में शादी करके जाने वाली लड़कियां भी भारत वापस नहीं आ पाती हैं। उन्होंने कहा, ‘मैं सुषमा मैम को धन्यवाद देती हूं जो मुझे रोज फोन करके हिम्मत देती थीं और कहती थीं कि तुम जल्द ही वापस आओगी।’

उज़्मा अहमद ने बताया कि किस तरह उनका अपहरण कर लिया गया और जबरन शादी की गई। उनकी बेटी को जान से मारने की धमकी भी दी गई। अपनी कहानी बताते हुए वह भावुक हो गईं। उन्होंने बताया, ‘मुझे नींद की गोली दी गई और इसके बात कुछ पता नहीं लगा कि कहां पहुंच गई।

उज़्मा ने कहा कि पाकिस्तान में भारत के हाई कमिशन ने उनकी मदद की और सारी सुविधाएं मुहैया करवाईं। उज़्मा ने विदेश मंत्री को बार-बार धन्यवाद देते हुए प्रधानमंत्री मोदी को भी शुक्रिया कहा।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा, ‘उज़्मा के लौटने के बाद मैंने राहत की सांस ली। आज एक बेटी अपनी मां से मिली है और इनकी बेटी भी अपनी मां से मिली। पाकिस्तान के विदेश और गृह मंत्रालय ने भी हमारी मदद की।’ सुषमा स्वराज ने उज़्मा के परिवार से भी मुलाकात की।

Top Stories