Thursday , July 19 2018

उत्तराखंड में दलित आंदोलन के दौरान उपद्रव करने पर 3750 लोगों पर मुकदमा

दलित संगठनों द्वारा भारत बंद को लेकर सोमवार को हुए बवाल में रुड़की और हरिद्वार क्षेत्र में पुलिस ने 3750 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। रुड़की में सिविल लाइंस और गंगनहर कोतवाली में दो नामजद समेत तीन हजार लोगों के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज किया है। पुलिस ने पचास से अधिक उपद्रवियों को चिन्हित किया है। जबकि मंगलौर कोतवाली क्षेत्र के बिझौली तिराहे पर आगजनी के बाद हिंसक प्रदर्शन के मामले में कोतवाली पर 21 को नामजद करते हुए 200 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपी 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं दूसरी ओर हरिद्वार में बहादराबाद भेल तिराहे और कनखल में बवाल करने पर पुलिस ने 550 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

फरार आरोपियों की धरपकड़ को पुलिस दे रही दबिश 

एससी-एसटी एक्ट में बदलाव के खिलाफ दलित संगठनों ने सोमवार को भारत बंद का आह्वान किया था। बंद के दौरान उपद्रवियों ने शहर में जमकर बवाल किया था। कई वाहनों में तोड़फोड़, मारपीट कर गोलियां चलाईं और पथराव भी किया गया। इंस्पेक्टर सिविल लाइंस साधना त्यागी और इंस्पेक्टर गंगनहर कमल कुमार लुंठी की ओर से मुकदमा दर्ज कराया गया है। बलवा, हाईवे जाम करने, तोड़फोड़, मारपीट, सरकारी कामकाज में बाधा डालने के मामले में मुकदमा दर्ज हुआ है।

एसपी देहात मणिकांत मिश्रा ने बताया कि उपद्रवियों को चिन्हित कर उनकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। सोमवार को बवाल के दौरान दो पक्षों के बीच गोलीबारी में घायल इंस्पेक्टर गंगनहर कमल कुमार लुंठी का इलाज चल रहा है। इसके साथ ही पथराव में सीओ एसके सिंह, दारोगा नवीन पुरोहित, पवन डिमरी आदि के भी चोट आई हैं।

 

मंगलौर में उपद्रव फैलाने पर दस गिरफ्तार

एससी-एसटी में बदलाव के विरोध में सोमवार की सुबह मंगलौर मे दलित समाज के लोगों ने नेशनल हाईवे पर बिझौली तिराहे के पास जाम लगाकर धरना प्रर्दशन किया था। नौ घंटे से भी ज्यादा समय बीतने के बाद भी प्रर्दशनकारियों के हाईवे पर डटे रहने से जाम में फंसे दोपहिया, चौपहिया वाहनों के अलावा रोडवेज बसों में सवार यात्रियों को परेशानी झेलनी पड़ी थी। शाम के समय जब पुलिस ने जाम में फंसे वाहनों को डायवर्ट रूट से भेजना शुरू किया तो उपद्रवियों ने पुलिस बस में आग लगाकर पुलिस बल पर पथराव कर दिया। यूपी रोडवेज की दो बसों पर पथराव कर उनके शीशे तोड़े थे। पथराव में पुलिस के कई जवान घायल हुए। इस मामले में कार्यवाहक कोतवाली प्रभारी पीपी शाह की तहरीर पर कोतवाली पर 21 ग्रामीणों को नामजद और 200 अज्ञात ग्रामीणों के खिलाफ हाईवे जाम करने, पुलिस कर्मियों पर पथराव, सरकारी वाहनों को क्षति पहुंचाते हुए आग लगाने, डंडे, सरिए मारकर शीशे तोड़ने आदि धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

 

बहादराबाद में पुलिस पर पत्थराव करने पर मुकदमा 

हरिद्वार में बहादराबाद के भेल तिराहे, अलीपुर, रोहालकी, शाहंतरशाह, सलेमपुर, रावली महदूद, ब्रहमपुरी, इब्राहिमपुर, बोंगला सहित दर्जनों गांवों के दलित लोगों ने केंद्र सरकार, शासन प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की थी। लोगों ने जाम लगाने की शुरुआत कर दी। पुलिस ने समझाया तो लोगों ने पुलिस पर ही पथराव शुरू कर दिया। स्थिति काबू पाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया। इसमें आठ पुलिसकर्मी समेत कई अन्य लोग घायल हुए। थाना प्रभारी मनोहर सिंह भंडारी ने बताया कि भीम आर्मी के अध्यक्ष विशाल कुमार, देशराज, कृष्णपाल  निवासीगण रावली महदूद, पवन मौर्या निवासी बोंगला, कुलदीप निवासी बेगमपुर और राहुल समता सैनिक दल समेत पांच सौ अज्ञात लोगों के खिलाफ आठ धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

कनखल में बवाल करने पर 50 के खिलाफ मुकदमा 

कनखल में बीते सोमवार को दो पक्षों के बीच हुए विवाद के बाद मंगलवार को 50 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोप है कि दुकान बंद नहीं करने पर दलित संगठन के लोगों ने दुकानदार के साथ मारपीट की। पुलिस ने यशपाल पुत्र कालू, राजदीप मेनवाल पुत्र टिंकू निवासीगण शिव कॉलोनी जगजीतपुर को नामजद करते हुए 50 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। एसओ अनुज सिंह ने बताया कि आरोपियों को चिन्हित किया जा रहा है। जल्द ही मामले में गिरफ्तारी की जाएगी।

TOPPOPULARRECENT