Wednesday , September 26 2018

उत्तर प्रदेश के औरैया में दो साधुओं की हत्या, इलाक़े में तनाव

उत्तर प्रदेश के औरैया ज़िले में दो साधुओं की हत्या से इलाक़े में तनाव है.

मंदिर में सोए दोनों साधुओं की कुछ लोगों ने धारदार हथियार से हत्या कर दी जबकि गंभीर रूप से घायल एक अन्य साधु का सैफ़ई मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा है.

औरैया के पुलिस अधीक्षक नागेश्वर सिंह ने बताया, “ये घटना बुधवार तड़के तीन बजे की है. बिधूना पुलिस स्टेशन के कुदरकोट इलाक़े के भयानक नाथ मंदिर में सो रहे तीन साधुओं पर अज्ञात लोगों ने हमला कर दिया. दो साधुओं की मौत हो गई. एक अन्य साधु को मरणासन्न हालत में सैफ़ई अस्पताल में भर्ती कराया गया है. घटना की जांच की जा रही है.”

इस घटना से गुस्साए लोगों ने सड़क जाम कर दिया, पूरे बाज़ार को बंद करा दिया. कई दुकानों में तोड़फोड़ और आगजनी भी की गई. लोगों ने पुलिस पर भी पथराव किया. बाद में पुलिस ने आंसू गैस छोड़कर भीड़ पर क़ाबू पाया.

लोगों के ग़ुस्से को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल और पीएसी को बुलाना पड़ा. ज़िले के आला अधिकारियों ने घटनास्थल पर पहुंचकर मामले को शांत कराया लेकिन लोगों में अब भी गुस्सा है.

बिधूना के क्षेत्राधिकारी भास्कर वर्मा ने पत्रकारों को बताया कि तीनों साधुओं को चारपाई से बांधकर बड़ी बेरहमी से मारा गया. मारे गए साधुओं में से एक की जीभ कटी पाई गई जबकि अन्य को भी धारदार हथियार से मारा गया है.

स्थानीय लोगों के मुताबिक़ ये तीनों साधु मंदिर में पुजारी थे और इलाक़े में कथित तौर पर होने वाली गोकशी का लंबे समय से विरोध कर रहे थे.

पुलिस अधीक्षक नागेश्वर सिंह का कहना है कि इन आरोपों की भी गंभीरता से जांच हो रही है और दोषियों को जल्द से जल्द ढूंढ़ लिया जाएगा.

बताया जा रहा है कि साधुओं ने कथित तौर पर हो रही गोकशी की घटना की जानकारी पुलिस को भी दी थी. हालांकि पुलिस अधिकारियों ने इस बारे में कुछ भी बताने इनकार कर दिया.

राज्य सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया है, “मुख्यमंत्री जी ने इस घटना को गंभीरता से लेते हुए डीजीपी और प्रमुख सचिव गृह को 48 घंटे के भीतर दोषियों का पता लगाकर उनके ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं.”

TOPPOPULARRECENT