Tuesday , December 12 2017

उत्तर प्रदेश के 5 जवान शहीद हो गए लेकिन अमित शाह के मूंह से एक शब्द ना निकला: कांग्रेस

लखनऊ: अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव एवं पार्टी के उत्तर प्रदेश मामलों के प्रभारी गुलाम नबी आजाद एवं उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राज बब्बर ने आज पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी की ‘दलाली’ वाली टिप्पणी का यह कहते हुए बचाव किया कि उसे प्रसंग से हटकर नहीं देखा जाना चाहिए।

आजाद ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘सभी कांग्रेसजन का सेना में अटूट विश्वास है चाहे मैं हूं, राहुल गांधी हों या पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी। हम सैन्यकर्मियों को सलाम करते हैं और उनके साथ हैं .. लेकिन हम राजनीतिक दुष्प्रचार के खिलाफ हैं।’’ उन्होंने कहा कि राहुल की टिप्पणी को प्रसंग से अलग कर नहीं देखा जाना चाहिए। हम सेना का समर्थन करते हैं और उसमें किसी तरह का कोई सवाल नहीं उठता। हम सैन्य कार्रवाई के राजनीतिकरण के खिलाफ हैं। भाजपा राजनीतिक लाभ के लिए राहुल की टिप्पणी को लेकर विवाद पैदा करने का प्रयास कर रही है, जो निन्दनीय है।

कांग्रेस नेताओं ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा आज नयी दिल्ली में एक प्रेस कांफ्रंेस के दौरान राहुल पर की गयी टिप्पणी के लिए शाह को कोसा। शाह ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘दलाली शब्द उनकी :राहुल: मानसिकता का हिस्सा है क्योंकि उनके शासनकाल के दौरान कई घोटाले हुए।’’ शाह ने राहुल पर तंज कसा, ‘‘उन्हें किसानों के लिए आलू की फैक्टरी पर ध्यान केन्द्रित करना चाहिए क्योंकि कृषि क्षेत्र के बारे में उनकी समझ वहीं तक सीमित है।’’ आजाद और बब्बर ने कहा कि पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर में लक्षित हमले की सफलता के लिए रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर का कल उत्तर प्रदेश में सम्मान किया गया लेकिन उन्होंने उरी आतंकी हमले में शहीद हुए उत्तर प्रदेश के पांच जवानों के बारे में एक शब्द भी नहीं कहा।

बब्बर ने कहा कि राहुल ने साबित कर दिया है कि उनकी राजनीति गरीबों और वंचितों के लिए है और वह उनके लिए आवाज उठाना जारी रखेंगे।

दोनों नेताओं ने राहुल संदेश यात्रा को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना किया जो राहुल गांधी द्वारा राज्य भर में 26 दिन की गयी किसान यात्रा में उठाये गये मुददों का प्रचार करेगी।

(भाषा)

TOPPOPULARRECENT