Tuesday , December 12 2017

उत्तर प्रदेश चुनाव में सर्जिकल स्ट्राइक और नोटबंदी रहेंगे भाजपा के मुद्दे

फैसल फरीद

लखनऊ: भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए पार्टी की मंशा को स्पष्ट कर दिया है. उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए एलओसी पर सर्जिकल स्ट्राइक और नोटबंदी भाजपा के मुख्य मुद्दे रहेंगे।

गुरुवार को आजमगढ़ में परिवर्तन रैली में अपने संबोधन के दौरान शाह ने इन दोनों मुद्दों को प्रमुखता से उठाया। इसके अलावा शाह ने मोदी सरकार की विभिन्न सामाजिक कल्याण योजनाओं के बारे में भी बात की और बताया कि इन योजनाओं को लागू करने में मोदी सरकार को राज्य सरकार से सहयोग नहीं मिल रहा है।

अपने 18 मिनट के भाषण में शाह ने नियंत्रण रेखा पर सर्जिकल स्ट्राइक और नोटबंदी के मुद्दे को उठाते हुए इन मुद्दों पर सपा, बसपा और कांग्रेस के रुख पर सवाल उठाये। उन्होंने हालांकि कहा कि लोगों को नोटबंदी के कारण कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है  लेकिन इस तरह के घाव के इलाज के दौरान दर्द होता ही है। उन्होंने मोदी सरकार की विकास योजनाओं की तरफ लोगों का ध्यान केंद्रित करते हुए जनधन योजना, सुकन्या योजना, फसल बीमा योजना सहित लगभग 92 योजनाओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान से आने वाले नकली नोट नोटबंदी के बाद किसी कीमत के नहीं रहे।

शाह ने आजमगढ़ के लोगों से शिकायत करते हुए कहा कि आजमगढ़ की जनता ने  2014 के लोकसभा चुनाव में अपनी सीट से भाजपा के सांसद को नहीं चुना था। आजमगढ़ सीट पर 2014 लोकसभा चुनाव में मुलायम सिंह ने भाजपा उम्मीदवार रमाकांत यादव को हराया था।

अन्य नेताओं ने क्या कहा:

केशव प्रसाद मौर्य, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष

उन्होंने कहा कि आजमगढ़ आतंकवाद का केंद्र है, जबकि पाकिस्तान को आतंकवाद का कारखाना है। नोटबंदी से मोदी सरकार ने आतंकवाद की रीढ़ की हड्डी तोड़ दी है। उन्होंने यह भी कहा कि जब प्रदेश में भाजपा सरकार होगी तब सपा के गुंडों को सलाखों के पीछे भेज दिया जायेगा।

विनय कटियार

उन्होंने तीन तलक का मुद्दा उठाते हुए दावा किया कि दुनिया के 21 देशों में तीन तलाक को खत्म कर दिया गया है, जबकि यह अभी भी भारत में हो रही है। उन्होंने यह भी दावा किया है कि आजमगढ़ की महिलाओं को भी तीन तलाक़ के कारण नुकसान उठाना पड़ा है।

योगी आदित्यनाथ:

उन्होंने कहा कि बटला हाउस घटना के बाद से आजमगढ़ आतंकवाद के जाना जाने लगा। और आतंकवाद प्यार की भाषा नहीं समझता है। जब वह आजमगढ़ के लिए आये थे, तब उनका विरोध किया गया था लेकिन वह मजबूती से यहाँ बने रहे। उन्होंने सपा सरकार पर हमला करते हुए यह भी कहा कि सपा सरकार आतंक के मामलों को हटा रही है।

ओमप्रकाश राजभर, अध्यक्ष, भारतीय समाज पार्टी

राजभर ने रैली में भाग लिया और उनके समर्थकों भी अपने झंडे के साथ रैली में शामिल हुए। उन्होंने एक पृथक पूर्वांचल राज्य की मांग की वकालत की और आश्वासन दिया कि अगर भाजपा राज्य में सत्ता संभालती है तो पूर्वांचल को काट कर अलग राज्य बनाया  जायेगा।

TOPPOPULARRECENT