Wednesday , September 26 2018

उन्नाव जैसा एक और मामला, महिला का सुसाइड नोट पढ़कर हर कोई हैरान

यूपी के उन्नाव की तरह एक और दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। इस मामले में पुलिस की साफ लापरवाही देखने को मिली है। इंसाफ नहीं मिलने पर एक महिला ने खतरनाक कदम उठा लिया। महिला का सुसाइड नोट पढ़कर हर कोई हैरान रह गया।

 घटना उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले की है। बुढ़ाना इलाके के रायपुर अटेरना गांव में एक महिला (40) के साथ गुरुवार को उसके जेठ के बेटे ने अपने एक साथी के साथ मिलकर दुष्कर्म की कोशिश की। थाना फुगाना पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करने के बजाए, रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंचे महिला का पति और बेटे को ही थाने की हवालात में बंद कर दिया।

उन्हें छुड़ाने के लिए महिला गिड़गिड़ाती रही लेकिन पुलिस ने उसकी एक न सुनी। इससे आहत महिला ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इस मामले में पुलिस पर रिश्वत मांगने का भी आरोप लग रहा है। एसएसपी अनंत देव तिवारी ने आरोपी दरोगा सतेंद्र को निलंबित कर दिया।

महिला की मौत के बाद थाना फुगाना पुलिस ने आनन-फानन में उसके पति और बेटे को थाने की हवालात से छोड़ दिया। महिला के भाई की तहरीर पर घटना के संबंध में दो अलग-अलग थानों पर रिपोर्ट दर्ज की गई है।

थाना फुगाना पर महिला के साथ दुष्कर्म की कोशिश का मामला दर्ज किया गया तो थाना बुढ़ाना पर एक महिला सहित छह के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है। महिला का पति और परिवार थाना बुढ़ाना के गांव रायपुर अटेरना का रहने वाला है और जौला गांव में एक भट्टे पर परिवार के साथ मजदूरी करता है।

महिला गुरुवार को दिन में करीब चार बजे अपने छोटे बेटे के साथ भट्टे से गांव लौट रही थी, तभी उसके जेठ के बेटे प्रदीप और उसके साथी सुभाष ने गन्ने के खेत में खींचकर उसके साथ दुष्कर्म की कोशिश की। शोर मचाने पर आरोपी फरार हो गए।

महिला का पति और बड़ा बेटा घटना की रिपोर्ट दर्ज कराने थाना फुगाना पर पहुंचे तो पुलिस ने उन्हें ही हवालात में बंद कर दिया, महिला को भी धमकी दी। रात भर तनाव में रही महिला ने आत्महत्या कर ली। भट्टा मालिक हाजी जमशेद की सूचना पर सीओ हरिराम यादव, एसपी देहात अजय सहदेव, फुगाना और बुढ़ाना पुलिस मौके पर पहुंच गई।

मृतक महिला के पति का अपने बडे़ भाई के साथ रास्ते का विवाद चला आ रहा है। परिवार के लोगों ने बताया कि मृतक महिला के पति ने एक प्लाट खरीदा था। प्लाट में जाने के लिए उसका भाई रास्ता नहीं दे रहा था।

इसी बात को लेकर नवंबर 2017 में दोनों भाइयों का विवाद न्यायालय में चला गया था। उसी विवाद के कारण दोनों भाइयों के बीच दुश्मनी बढ़ती चली गई। दोनों भाइयों की दुश्मनी ने उसकी पत्नी को मरने पर मजबूर कर दिया।

इस मामले के बारे में थाना फुगाना में पहुंचे एसपी देहात अजय सहदेव ने बताया कि मृतक महिला के पति का उसके बडे़ भाई के साथ जमीन संबंधी विवाद चल रहा है। यह मामला न्यायालय में विचाराधीन है। इस विवाद में न्यायालय द्वारा महिला के पति और उसके बेटे के खिलाफ न्यायालय द्वारा वारंट जारी किया गया है।

जिसके कारण उन्हें लॉकअप में बंद किया गया था। पुलिस ने यदि दोनों बाप-बेटे को वारंट के कारण लॉकअप में बंद किया था, तो 15 घंटे बाद दोनों को क्यों छोड़ दिया। वारंट में गिरफ्तार किया गया था तो पुलिस ने उनका चालान क्यों नहीं किया। यह सभी सवाल फुगाना पुलिस पर प्रश्न चिह्न लगाते हैं।

उधर, पति और बेटे को छुड़वाने थाना फुगाना गई महिला के साथ फुगाना पुलिस ने दुर्व्यवहार करने के कारण वह तनाव में आ गई थी। जिसके महिला ने एक सुसाइड नोट लिखकर अपनी जेब में रख लिया था। जिसके बाद उसके आत्महत्या कर ली।

एसपी देहात अजय सहदेव ने महिला की जेब से सुसाइड नोट का मिलना स्वीकार किया है। उसमें महिला ने अपने परिवार वालों पर प्रताड़ित करने का आरोप और उसके बच्चों को जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है। फुगाना पुलिस द्वारा किए गए व्यवहार की भी महिला ने चर्चा की है। वहीं एसपी देहात ने बताया कि सुसाइड नोट को कब्जे में लिया गया है। रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

TOPPOPULARRECENT