Monday , July 23 2018

उपराष्ट्रपति ने दिया युवा आईएएस अधिकारियों को संदेश, कहा: ‘लोगों को भारत में व्यापक बदलाव लाने के सक्रिय वाहक बनाएं!’

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडु ने आईएएस अधिकारियों से कहा है कि वे लोगों को भारत में व्यापक बदलाव लाने के सक्रिय वाहकों के रूप में देखे, न केवल ‘लक्ष्य समूहों’ या ‘लाभार्थियों’ के रूप में, जैसा कि हम उन्हें कहते रहे हैं।

वह आज यहां भारत सरकार में सहायक सचिवों के रूप में तैनात 2016 बैच के भारतीय प्रशासनिक अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास राज्य मंत्री, प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन, परमाणु ऊर्जा एवं अंतरिक्ष राज्य मंत्री डॉ. जितेन्द्र सिंह एवं अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि जब तक यह दृष्टिकोण हमारे योजना निर्माण एवं कार्यान्वयन प्रक्रिया का अंतरंग हिस्सा नही बन जाता, हमारी योजनाएं सफल नही होंगी।

उन्होंने युवा अधिकारियों से इस अवसर का अच्छा उपयोग करने तथा नीतियों एवं कार्यक्रमों के निर्माण में केंद्र सरकार की भूमिकाओं को समझने को कहा।

इस अवसर पर डॉ. जितेन्द्र सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार के साथ सहायक सचिवों के रूप में आईएएस की संलगनी की परिकल्पना ऐसे तंत्र के रूप में की गई है जो युवावस्था एवं अनुभव को मिश्रित करता है।

उन्होंने कहा कि पिछले चार वर्षों के दौरान अधिकांश सरकारी कार्यक्रमों में अधिक से अधिक नागरिकों की भागीदारी रही है और यहां तक कि सरकार की प्रमुख योजनाएं अब जन अभियानों में रूपांतरित हो चुकी हैं।

TOPPOPULARRECENT