Tuesday , November 21 2017
Home / Delhi News / उपहार कांड : गोपाल अंसल को एक साल के लिए जेल वापिस जाना होगा

उपहार कांड : गोपाल अंसल को एक साल के लिए जेल वापिस जाना होगा

सर्वोच्च न्यायलय ने गुरुवार को उपहार कांड में 2:1 के बहुमत निर्णय के साथ रियल एस्टेट के शक्तिशाली उद्योगपति ‘गोपाल अंसल’ को एक साल की  कैद की सजा सुनाई । 1997 में हुए उपहार कांड में 59 लोगो की मौत उपहार सिनेमा में आग लगने के कारण हो गयी थी। अपने निर्णय में न्यायलय ने गोपाल अंसल के बड़े भाई ‘सुशिल अंसल’ को उनकी बढ़ती उम्र के कारण सजा में माफ़ी दे दी है ।

न्यायमूर्ति रंजन गोगोई, कुरियन जोसफ, ए.के.गोयल की पीठ ने यह आदेश सीबीआई और उपहार त्रासदी के पीड़ितों की एसोसिएशन द्वारा दायर एक अलग समीक्षा याचिका, जो उन्होंने 2015 के सर्वोच्च न्यायलय के निर्णय के खिलाफ दायर की थी उसके समर्थन में सुनाया है । 2015 के अपने फैसले में सर्वोच्च न्यायलय ने दोनों अंसल भाइयो को कैद की सजा से मुक्त कर दिया था और उन्हें 60 करोड़ का मुआवज़ा जमा कराने के लिए कहा था । उस समय न्यायमूर्ति ‘अनिल दावे’ जो पीठ का नेतृत्व कर रहे थे उन्होंने कहा था की अंसल भाइयो को जेल भेज कर कोई फायदा नहीं होगा ।

गुरुवार का निर्णय न्यायूर्ति गोगोई और कुरियन द्वारा पास किया गया। न्यायमूर्ति गोयल , 2015 में दिए गए निर्णय के समर्थन मे थे ।

‘गोपाल अंसल’ पहले ही 4 महीने और 20 दिन जेल मे काट चुके हैं अब उन्हें अपनी बाकि बची सजा का वक्त जेल में ही काटना होगा। उन्हें 4 हफ्ते का वक्त आत्मसमर्पण के लिए दिया गया है । ‘सुशिल अंसल’, 5 महीने और 20 दिन जेल मे काट चुके हैं परंतु उनकी बढ़ती उम्र को ध्यान में रखते हुए न्यायाल ने उनकी बाकि सजा माफ़ कर दी है।

न्यायलय ने पुराने आदेश को भी लागू किया है जिसके अनुसार अंसल भाइयो को 60 करोड़ रुपये का मुवाजा देना पड़ेगा ।

1997 में दिल्ली के ग्रीन पार्क इलाके में स्थित उपहार सिनेमा में ‘बॉर्डर’ की स्क्रीनिंग के दौरान इस सिनेमा हॉल में आग लग गयी थी। सिनेमा हॉल मे लगी आग के कारण हॉल में धुंआ भर गया था जिसके कारण बहुत सरे लोगो की मौत दम घुट जाने के कारण हो गयी थी । बहार निकलने के दरवाज़ों के पास ज़रूरत से ज़्यादा सीटो होने के कारण कई लोग वहां से भाग नहीं पाए । 100 से अधिक लोग भगदड़ में घायल हो गए थे ।

TOPPOPULARRECENT