Tuesday , December 12 2017

उप्र-बिहार के 500 मजदूर सऊदी कंपनी में यरगमाल

पैसा कमाने का ख्वाब लेकर वतन से हजारों मील दूर अरब गए पटना के नौजवान सुनील सिंह को जिल्लत की जिंदगी जीनी पड़ रही है। सुनील दूसरे साथियों के साथ पिछले एक हफ्ते से सऊदी अरब के शमी अल हाजरी कंस्ट्रक्शन लिमिटेड के दफ्तर में गैर ऐलानिया

पैसा कमाने का ख्वाब लेकर वतन से हजारों मील दूर अरब गए पटना के नौजवान सुनील सिंह को जिल्लत की जिंदगी जीनी पड़ रही है। सुनील दूसरे साथियों के साथ पिछले एक हफ्ते से सऊदी अरब के शमी अल हाजरी कंस्ट्रक्शन लिमिटेड के दफ्तर में गैर ऐलानिया तौर पर यरगमाल हैं। इसमें शेखपुरा के साकिन भानु प्रताप समेत बिहार व उप्र के 500 लोग शामिल हैं, जो मजदूरी, ड्राइवर, खलासी, चौकीदार, लेबर सुपरवाइजर वगैरह का काम करते हैं।

सऊदी में यरगमाल बने मुलाज़्मीन में सुनील सिंह (मोबाइल नंबर 00966581060697) ने रोज़नामा दैनिक जागरण से बताया कि कंपनी की शिकायत पिछले 14 फरवरी को सऊदी पुलिस से की गई थी। लेकिन पुलिस मजदूरों की बातें सुनकर चली गई। बकौल सुनील, सऊदी में हिंदुस्तानी सिफारतखाने से उनका राबिता नहीं हो पा रहा है। वह पटना जिले का साकिन है और खुद को इस कंपनी में लेबर सुपरवाइजर बताया।

उसने बताया कि बिहार व उप्र के 500 जिस कंस्ट्रक्शन कंपनी में काम करते हैं, वह सऊदी के जुबैल रास अल खैर शहर में है जो दारुल हुकूमत जद्दा से 350 किलोमीटर दूर और कुवैत से काफी नजदीक है। कंपनी ने इन मुलाज़्मीन को पिछले 10 दिनों से खाना-पानी भी नहीं दिया है जबकि सभी का पासपोर्ट पहले ही अपने पास जमा करा लिया है। उन्होंने मुसीबत से छुटकारा दिलाने के लिए हिंदुस्तान की हुकूमत से अपील की है।

TOPPOPULARRECENT