Thursday , December 14 2017

उमरा वीज़े पर हज अदा करना हराम है – सऊदी आलिम

सऊदी अरब के एक जज और इस्लामी क़ानून के माहिर जस्टिस डॉक्टर ईसा अलग़ीस ने कहा है कि उमरा के वीज़े पर मक्का मुकर्रमा आने वाले अफ़राद उसी वीज़े पर फ़रीज़ा हज अदा नहीं कर सकते क्योंकि हज के लिए इस्तिताअत की शर्त है, हील्ले बहानों से ये फ़रीज़

सऊदी अरब के एक जज और इस्लामी क़ानून के माहिर जस्टिस डॉक्टर ईसा अलग़ीस ने कहा है कि उमरा के वीज़े पर मक्का मुकर्रमा आने वाले अफ़राद उसी वीज़े पर फ़रीज़ा हज अदा नहीं कर सकते क्योंकि हज के लिए इस्तिताअत की शर्त है, हील्ले बहानों से ये फ़रीज़ा अदा नहीं होता।

अल अरबिया डॉट नेट से ख़ुसूसी गुफ़्तगु करते हुए सऊदी मज्लिसे शूरा के रुक्न डॉक्टर ईसा अलग़ीस ने कहा कि इस्लाम और ममलकत के मुरव्वजा तरीकेकार और ज़ाब्ता अख़्लाक़ से हट कर अपनी मर्ज़ी से हज करना ‘नौसरबाज़ी’ तो हो सकता है मगर उसे हक़ीक़ी माअनों में फ़रीज़ा हज की अदायगी शुमार नहीं किया जा सकता है।

सऊदी हुकूमत इस रुझान को ख़त्म करने के लिए कोशिशें भी करती रही है मगर उसे इस में कोई ख़ातिर ख़्वाह कामयाबी नहीं मिली है। हुकूमत की इसी नाकामी के बाइस हुज्जाज की तादाद में हर साल ग़ैर मामूली इज़ाफ़ा हो जाता है।

TOPPOPULARRECENT