Friday , December 15 2017

उमर‌ अकमल की सलाहीयतों से इस्तिफ़ादा के लिए माहिर-ए-नफ़सीयात की ख़िदमात

कराची 16 जनवरी पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पी सी बी) ने बाअज़ सीनयर खिलाड़ियों की तकनीक पर काम करने के बाद उन की कारकर्दगी में बेहतरी लाने के लिए उन्हें खेलों के माहिर-ए-नफ़सीयात के सपुर्द करने का फ़ैसला किया है ताकि उनके ज़हन में अगर कोई एसी ख़ामी है तो उसे दूर किया जाय।

उमर‌ अकमल के बारे में माहेरीन का ख़्याल है कि वो इंतिहाई बासलाहीयत हैं लेकिन काफ़ी अर्सा से पाकिस्तान के लिए मैच विनिंग कारकर्दगी दिखाने में नाकाम रहे हैं और वो अच्छा खेलने के बावजूद या तो मैच ख़त्म नहीं करसकते या वो ग़लत स्ट्रोक खेल कर विकेट गंवा देते हैं।

बावसूक़ ज़राए का कहना है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने उमर‌ अकमल को माहिर-ए-नफ़सीयात के पास भेजा है जो उनसे मसाइल पर बात कररहे हैं। उमर‌ अकमल इन दिनों कराची में सोई नार्दर्न गैस की तरफ़ से प्रसीडेनट ट्रॉफ़ी का फाईनल खेल रहे हैं वो पहली इन्निंगज़ में सिर्फ़ 16 रंस‌ बना कर अब्दुर्रहमान की गेंद पर बोल्ड होगए।

नैशनल स्टेडीयम कराची में सोई नार्दर्न गैस के ड्रेसिंग रुम के चंद क़दम के फ़ासले पर पी सी बी के माहिर-ए-नफ़सीययात और साबिक़ ओपनर मुईन उल-अतीक़ अपने कमरे में उन की कौंसलिंग करते रहे। ज़राए का कहना है कि उमर‌ अकमल की कौंसलिंग के लिए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के डायरेक्टर इंटरनैशनल इंतिख़ाब आलम ने हिदायत जारी की हैं।

पाकिस्तान की टेस्ट टीम से ख़ारिज होने वाले उमर‌ अकमल ने अपने मसाइल और मुश्किलात से मुईन उल-अतीक़ को आगाह किया और मुईन ने उन्हें लैक्चर दे कर बताने की कोशिश की, कि वो किन किन वजह से बैटिंग करते हुए विकेट गंवा देते हैं और कैसे एसी इन्निंगज़ खेलें कि पाकिस्तान के लिए फ़तह गीर साबित हो।

वाज़िह रहे कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने हिंदूस्तान के दौरे में पहली मर्तबा खेलों के माहिर-ए-नफ़सीययात की ख़िदमात हासिल कीं थीं। मक़बूल बाबरी ने पाकिस्तान टीम के साथ हिंदूस्तान का दौरा किया और हिंदूस्तान को इस के होम ग्रांऊड पर शिकस्त हुई।

TOPPOPULARRECENT