Tuesday , December 19 2017

उमा भारती उत्तर प्रदेश की चीफ़ मिनिस्टर नहीं बन सकती: कलराज मिश्रा

लखनऊ, २५ जनवरी (पी टी आई) बी जे पी के नायब सदर कलराज मिश्रा ने जो उत्तर प्रदेश की चीफ़ मिनिस्टर की सीट के लिए सब से पहले दावेदार हैं अगर उन की पार्टी को भारी अक्सरीयत हासिल होती है तो कलराज मिश्रा ही चीफ़ मिनिस्टर होंगे, कहा कि करिश्माती

लखनऊ, २५ जनवरी (पी टी आई) बी जे पी के नायब सदर कलराज मिश्रा ने जो उत्तर प्रदेश की चीफ़ मिनिस्टर की सीट के लिए सब से पहले दावेदार हैं अगर उन की पार्टी को भारी अक्सरीयत हासिल होती है तो कलराज मिश्रा ही चीफ़ मिनिस्टर होंगे, कहा कि करिश्माती तौर पर बी जे पी को इक़तेदार हासिल हो जाय तो उमा भारती उत्तर प्रदेश की चीफ़ मिनिस्टर नहीं होंगी।

अगर चीका कालराज मिश्रा ने उमा भारती की ज़बरदस्त सताइश की लेकिन बी जे पी के चीफ़ मिनिस्टर की उम्मीदवार की हैसियत से उन के इमकानात को मुस्तर्द कर दिया और कहा कि उमा भारती उत्तर प्रदेश से ताल्लुक़ नहीं रखतीं, इन का ताल्लुक़ दूसरी रियासत से है। अगर पार्टी इक़तिदार पर आ जाए तो रियासत का ही लीडर चीफ़ मिनिस्टर होगा।

बी जे पी सदर नीतिन गडकरी ने रियासत में इंतेख़ाबात के बारे में कहा था कि उम्मीदवार का फ़ैसला वक़्त पर किया जाएगा। फ़िलहाल ये इंतेख़ाबात कलराज मिश्रा, उमा भारती, साबिक़ सदर राज नाथ सिंह और रियास्ती यूनिट की सदर सूर्य प्रताप साही के ज़ेर क़ियादत लड़े जा रहे हैं। पी टी आई को एक इंटरव्यू देते हुए कलराज मिश्रा ने कहा कि इन की इंतेख़ाबी मुहिम में अयोध्या में राम मंदिर का मसला शामिल है।

वो बी जे पी टिकट पर लखनऊ ईस्ट से मुक़ाबला कर रहे हैं। उन्हों ने कांग्रेस और इस के लीडर राहुल गांधी की सियासत पर भी तबसिरा किया और समाजवादी पार्टी के इलावा हुक्मराँ बी एस पी के इंतेख़ाबी इमकानात पर भी इज़हार-ए-ख़्याल किया। उन्हों ने कहा कि हमारी पार्टी के सदर ने कहा है कि सूर्य प्रताप साही रियास्ती यूनिट के सदर हैं। वो बैयकवक़त दो ओहदों पर क़ायम नहीं रख सकते।

राज नाथ सिंह ने पहले ही कहा है कि वो रियास्ती सियासत में हिस्सा नहीं लेंगे और रहा उमा भारती का सवाल तो वो दूसरी रियासत से ताल्लुक़ रखती हैं। इन का उत्तर प्रदेश से कोई ताल्लुक़ नहीं है। ताहम उन्हों ने ये कहने से भी पस-ओ-पेश किया कि मैं जो कह रहा हूँ इस का ये मतलब नहीं कि में ही चीफ़ मिनिस्टर के ओहदे की दौड़ में शामिल हूँ।

जब से नितिन गडकरी ने ऐलान किया है कि उमा भारती ज़िला महोबा के चार खीरी हलक़ा से मुक़ाबला करेंगी, ये क़ियास आराईयां हो रही हैं कि उमा भारती ही बी जे पी की चीफ़ मिनिस्टर उम्मीदवार होंगी। भारती के केस को इस लिहाज़ से भी मज़बूती मिलती है कि वो ओ बी सी लीडर हैं और बी जे पी उस वक़्त दलितों को ज़्यादा एहमीयत दे रही है। ये पूछे जाने पर कि आया बी जे पी उत्तर प्रदेश में एक ब्रहमन को चीफ़ मिनीस्टर बनाने की कोशिश करेगी।

कलराज मिश्रा ने कहा कि इस का क़तई फ़ैसला पार्टी का पारलीमानी बोर्ड करेगा। साबिक़ बी एस पी, बी जे पी हुकूमत के वज़ीर का एहसास है कि उमा भारती पार्टी की क़ौमी लीडर हैं और उन्हें यूपी की सियासत के तनाज़ुर में नहीं देखा जाना चाहीए। इस के इलावा उन्हें सिर्फ़ ओ बी सी लीडर नहीं समझा जाना चाहीए। वो इन डी ए हुकूमत में मर्कज़ी वज़ीर रह चुकी हैं।

वो साध्वी हैं जो एक रियासत तक महिदूद नहीं रह सकतीं। वो साबिक़ चीफ़ मिनिस्टर मध्य प्रदेश भी रह चुकी हैं। सब से पहले हमें हुकूमत बनाने के लिए अपनी पोज़ीशन मज़बूत बनानी है। अगर नताइज चमत्कार दिखाएंगे तो इस सूरत में पार्टी के चीफ़ मिनिस्टर के लिए ग़ौर किया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT