Sunday , September 23 2018

उम्मीदवारों के चयन के ऐन वक्त पार्टी नेताओं में मतभेद: केरल कांग्रेस

तिरुवनंतपुरम: केरल कांग्रेस के अंदर मतभेद उभर कर सामने आ रहे हैं। पार्टी के कई नेताओं केरल प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष वी एम सधरन के खिलाफ बयान दे रहे हैं। उन्हें हाल ही में भूमि मुद्दे पर आलोचनाओं का सामना था। इससे राज्य में कांग्रेस आभरकयादत यूडीएफ सरकार को परेशानी हो रही है।

कांग्रेस नेताओं में मतभेद ऐसे समय पैदा हो रहे हैं जबकि पार्टी हाईकमान की ओर से केरल के 16 मई को आयोजित होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस उम्मीदवारों का चयन पूरा करना है। फ्रंट के सहयोगी दलों के साथ सीटों के बंटवारे के बारे में चर्चा हो रही है।

अगर मुख्यमंत्री ओमन चंडी, गृहमंत्री रमेश चनताला और सधीरन ने कहा है कि पार्टी निस्संदेह संयुक्त रूप से चुनाव प्रतिस्पर्धा करेगी। केरल प्रदेश कांग्रेस समिति के प्रमुख ने सरकार के कुछ फैसलों में हस्तक्षेप है। भूमि आवंटन मुद्दे पर सरकार के फैसले का समर्थन किया पार्टी में रहकर नेताओं के साथ उनके फैसलों को समान बताया गया।

राजनीतिक पर्यवेक्षकों का दृष्टिकोण यह है कि सुधीरन सरकार फैसले की एक से अधिक बार विरोध किया है क्योंकि कांग्रेस के अंदर नाराज़गियाँ उत्पन्न हुई। मंत्री माल अधूरी प्रकाश ने जो खुद भी भूमि स्कैम पर आलोचनाओं का शिकार हैं, सुशील मीडिया पर सुधीरन आलोचना की है और उन पर अपरोक्ष आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य के सक्षम लोगों को यह लग रहा है कि जो लोग साफ कपड़े पहनते हैं वही लोग भ्रष्ट होते हैं। मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि कांग्रेस नेताओं में गंभीर मतभेद पैदा हुए हैं।

TOPPOPULARRECENT