Monday , December 11 2017

उम्मीदवार को बना दिया मजिस्ट्रेट, इंतिख़ाब में लगा दी ड्यूटी

एसेम्बली इंतिख़ाब में एड्मिनिस्ट्रेटिव तैयारियों में चूक के अजब-गजब मामले सामने आ रहे हैं। नया मामला उम्मीदवार को इंतिख़ाब ड्यूटी पर लगाने का है। डॉ.

एसेम्बली इंतिख़ाब में एड्मिनिस्ट्रेटिव तैयारियों में चूक के अजब-गजब मामले सामने आ रहे हैं। नया मामला उम्मीदवार को इंतिख़ाब ड्यूटी पर लगाने का है। डॉ. अशोक नाग कांके एसेम्बली हल्के से झामुमो उम्मीदवार हैं। इन्हें बतौर मजिस्ट्रेट चुनाव ड्यूटी पर लगाया गया है। नॉमिनेशन से पहले रांची यूनिवर्सिटी इंतेजामिया से इंतिख़ाब लड़ने के लिए रांची कॉलेज के असातिज़ा डॉ. नाग ने एनओसी लिया था। इसके बावजूद जिला इंतेजामिया ने इंतिख़ाब में ड्यूटी करने के लिए उन्हें खत भेजी है। लोकसभा इंतिख़ाब में भी यही चूक हुई थी। तब डॉ. नाग आजसू पार्टी में थे और ऑफिस बियरर भी थे। फिर भी उन्हें इंतिखाब की ड्यूटी दे दी गई थी। हालांकि, बाद में जिला इंतेजामिया ने भूल सुधार करते हुए उनका नाम हटा दिया था। गौरतलब है कि डॉ. नाग हाल ही में आजसू पार्टी छोड़ झामुमो में शामिल हुए हैं।

जिला इंतेजामिया से करेंगे शिकायत : डॉ. नाग

झामुमो उम्मीदवार डॉ. नाग ने बताया कि इंतिख़ाब ड्यूटी मिलने से वे ताज्जुब हैं। रांची विवि इंतेजामिया से मिले एनओसी की कॉपी नॉमिनेशन के साथ जमा की है। जुमा को वे जिला इंतेजामिया से मिलकर शिकायत करेंगे, ताकि ड्यूटी से उनका नाम हटाया जा सके।

TOPPOPULARRECENT