उम्र 68 की लेकिन दिल 14 का, फिर से स्कूल में दाखिल ले कर रहे बुजर्गों को पढ़ने के लिए मोटीवेट

उम्र 68 की लेकिन दिल 14 का, फिर से स्कूल में दाखिल ले कर रहे बुजर्गों को पढ़ने के लिए मोटीवेट
Click for full image

नेपाल: अपने सपने पूरे करने की कोई उम्र नहीं होती’ दुनिया को इसका उदारहण दे रहे हैं नेपाल के रहने वाले दुर्गा कमी जिनकी दाढ़ी भले ही सफेद हो गई हो, लेकिन उनका अपना सपने को पूरा करने का जज्बा किसी बच्चे से कम नहीं। 68 साल के दुर्गा वो बचपन से टीचर बनना चाहते थे, लेकिन गरीबी के चलते पढ़ाई पूरी नहीं कर पाये तो  इस उम्र में उन्होंने हायर सेकेंडरी स्कूल में एडमिशन ले लिया। अब वो सुबह-सुबह स्कूल यूनिफॉर्म पहन, हाथों में छड़ी लिए करीब 1 घंटे पैदल चलकर स्कूल पहुंचते हैं और छोटे-छोटे बच्चों के साथ पढ़ाई का मजा ले रहे हैं। जब इस शख्स की पत्नी की मौत हो गई और ये घर में अकेले रह गए तो इन्होने अपनी छूटी हुई पढाई पूरी करने का इरादा बना लिया। आपको बता दें कि उनके 6 बच्चे और आठ नाती-पोते हैं, लेकिन कोई उनके साथ नहीं रहता। दुर्गा का कहना है कि मैं लोगों को पढ़ाई के लिए बढ़ावा देना चाहता हूं। अगर वो मेरे जैसे बुजुर्ग को पढ़ते देखेंगे तो जरूर मोटिवेट होंगे और अपनी मौत तक पढ़ना चाहता हूं।

Top Stories