Friday , September 21 2018

उर्दन में क़त्ल के 11 मुजरिमीन को फांसी दी गई

उर्दन में वज़ारते दाख़िला ने कहा कि क़त्ल के मुजरिम 11 अफ़राद को आज फांसी दे दी गई हैं। सज़ाए मौत पर गज़िश्ता साल से आइद उबूरी इमतिना बर्ख़ास्त हो गया। वज़ारती तर्जुमान के हवाले से सरकारी ख़बररसां इदारा पेट्रा ने कहा कि क़त्ल के मुख़्तल

उर्दन में वज़ारते दाख़िला ने कहा कि क़त्ल के मुजरिम 11 अफ़राद को आज फांसी दे दी गई हैं। सज़ाए मौत पर गज़िश्ता साल से आइद उबूरी इमतिना बर्ख़ास्त हो गया। वज़ारती तर्जुमान के हवाले से सरकारी ख़बररसां इदारा पेट्रा ने कहा कि क़त्ल के मुख़्तलिफ़ मुक़द्दमात में मुजरिम क़रार दिए गए 11 अफ़राद को आज तलूअ के साथ फांसी दे दी गई।

हुक्काम ने कहा कि ये तमाम अफ़राद उर्दन के शहरी थे जो 2005 और 2006 के दौरान क़त्ल के मुख़्तलिफ़ इल्ज़ामात पर जुर्म के मुर्तक़िब पाए गए थे। उर्दन में जून 2006 के दौरान किसी मुजरिम को आख़िरी मर्तबा फांसी दी गई थी और इस के बाद दे 122 मुजरिमीन को दी गई सज़ाए मौत पर तामील नहीं हो सकी थी।

वज़ीरे दाख़िला हुसैन जमाली ने हाल ही में सज़ाए मौत पर आइद उबूरी इमतिना की बर्ख़ास्तगी का इशारा दिया था और कहा था कि सज़ाए मौत पर उर्दन में सरगर्म बहस जारी हैं और अवाम समझते हैं कि सज़ाए मौत पर इमतिना भी जराइम में इज़ाफ़ा की एक अहम वजह है।

TOPPOPULARRECENT