Friday , December 15 2017

उर्दू एकेडेमी मुलाज़मीन की ख़िदमात को बाक़ायदा बनाया जाए

हैदराबाद । ०२ सितम्बर‌: सी पी आई ने चीफ़ मिनिस्टर से उर्दू एकेडेमी कम्पयूटर ट्रेनिंग सैंटरस और लाइब्रेरीज़ के 360 मुलाज़मीन की ख़िदमात को बाक़ायदा बनाने का मुतालिबा किया ।

हैदराबाद । ०२ सितम्बर‌: सी पी आई ने चीफ़ मिनिस्टर से उर्दू एकेडेमी कम्पयूटर ट्रेनिंग सैंटरस और लाइब्रेरीज़ के 360 मुलाज़मीन की ख़िदमात को बाक़ायदा बनाने का मुतालिबा किया ।

डाक्टर के ना रावना सैक्रेटरी सी पी आई ए पी स्टेट कौंसल ने चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी को मकतूब तहरीर करते हुए इस बात का मुतालिबा किया कि ये मुलाज़मीन पिछले पंद्रहता बीस साल से रियासत के मुख़्तलिफ़ अज़ला में कंट्टर एक्ट की असास पर ख़िदमात अंजाम देते आरहे हैं जब कि अक़ल्ल तरीन उजरत पर भी अमल आवरी नहीं की जा रही है । इलावा अज़ीं इंतिज़ामीया मुलाज़मीन के पी एफ़रक़म 41,28,628 रुपय को भी अदा नहीं किया है ।

उन्हों ने चीफ़ मिनिस्टर को इस जानिब तवज्जा दिलाई कि अदालत के अहकाम के मुताबिक़ 240 रोज़ काम अंजाम देने वाले मुलाज़मीन की ख़िदमात को बाक़ायदा बनाया जाना चाहिए ।

उन्हों ने मुलाज़मीन की ख़िदमात को बाक़ायदा बनाने और अक़ल्ल तरीन उजरत के नफ़ाज़ और पी एफ़ बक़ाया जातको अदा करने की हिदायात के लिए चीफ़ मिनिस्टर से दरख़ास्त की है

TOPPOPULARRECENT