Wednesday , December 13 2017

उर्दू एकेडेमी से असातिज़ा को एवार्ड्स , 24 सितंबर को तक़रीब

आंधरा प्रदेश रियासती उर्दू एकेडेमी ने 4 साल बाद असातिज़ा को एवार्ड के लिये तक़रीब के इनइक़ाद का ऐलान कर दिया है । डायरैक्टर / सैक्रेटरी

आंधरा प्रदेश रियासती उर्दू एकेडेमी ने 4 साल बाद असातिज़ा को एवार्ड के लिये तक़रीब के इनइक़ाद का ऐलान कर दिया है । डायरैक्टर / सैक्रेटरी
आंधरा प्रदेश रियासती उर्दू एकेडेमी प्रोफेसर इस ए शकूर ने आज प्रेस कान्फ़्रैंस के दौरान बताया कि रियासत भर के बहतरीन उर्दू टीचर्स को
एवार्ड्स के लिये दरख़्वास्तें तलब की गई थीं और एवार्ड के मुस्तहिक़ असातिज़ा का इंतिख़ाब अमल में आचुका है । उन्हों ने बताया कि 24 सितंबर को
शाम 5 बजे नेहरू ऑडीटोरियम , मदीना एजूकेशन सैंटर में उर्दू असातिज़ा को इनामात हवाले किये जाएंगे । प्रोफेसर ेस ए शकूर ने बताया कि बिस्ट टीचर
एवार्ड मुख़्तलिफ़ ज़मरों में हर ज़िला से 5 असातिज़ा को दिया जाएगा ।उन्हों ने बताया कि सिर्फ सुरेका कलिम एक एसा ज़िला है जहां से कोई दरख़ास्त मौसूल नहीं हुई है जब कि माबक़ी अज़ला से असातिज़ा ने काबिल-ए-क़बूल तादाद में दरख़ास्त रवाना की हैं । डायरैक्टर सैक्रेटरी इर्द वाक्य डेमी
के बमूजब उन के ओहदे का जायज़ा लेने के बाद उन्हों ने मुसन्निफ़ीन को इनामात , किताबों की इशाअत के लिये जुज़वी तआवुन , छोटे अख़बारात को माली
इमदाद के इलावा दीगर उसके मात का आग़ाज़ किया । उन्हों ने बताया कि असातिज़ा को एवार्ड की फ़राहमी तक़रीब में रियासत आंधरा प्रदेश के उर्दू मेडियम
तलबा की हौसला अफ़्ज़ाई के लिये आला निशानात हासिल करने वालों को भी इनामात दीए जाएंगे । प्रोफेसर इस ए शकूर ने बताया कि एकेडेमी ने 2008 ता 2011 के दरमियान शाय होने वाली उर्दू मतबूआत को इनामात देने का भी फैसला किया है जिस में शायरी , तंज़-व-मज़ाह , बच्चों का अदब , तन्क़ीद-ओ-तहक़ीक़ के इलावा दीगर कुतुब को एवार्ड्स दीए जाएंगे । उन्हों ने बताया कि जिन किताबों को साबिक़ में उर्दू एकेडेमी से एवार्ड हासिल हो चुका है । वोहै इस एवार्ड
के लिये दरख़ास्त दाख़िल करने के अहल नहीं हैं । उन्हों ने बताया कि मतबूआत पर इनाम के लिये दरख़ास्त गुज़ार अपनी दरख़ास्त के हमराह 5 मतबूआ
किताबें-ओ-दीगर ज़रूरी तफ़सीलात 29 सितंबर से क़बल उर्दू एकेडेमी तक पहुंचा दें ताकि जल्द अज़ जल्द इस तक़रीब का भी इनइक़ाद अमल में लाया जा सके ।

उन्हों ने बताया कि मतबूआत को इनामात की रक़म में इज़ाफ़ा करते हुए पहलाइनाम 8 हज़ार , दूसरा इनाम 6 हज़ार और तीसरा इनाम 5 हज़ार रुपय कर दिया गया है । उन्हों ने एकेडेमी की कारकर्दगी के मुताल्लिक़ बताते हुए कहा कि मुसव्विदात को किताबी शक्ल देने के लिये तलब करदा दरख़ास्तों को बाद अज़
तन्क़ीह पहली क़िस्त की इजराई करदी गई है । इलावा अज़ीं 167 छोटे अख़बारात को जुज़वी माली इमदाद फ़राहम की गई है । उन्हों ने बताया कि एकेडेमी की
जानिब से बहुत जल्द कारनामा हयात , मख़दूम एवार्ड और मौलाना आज़ाद एवार्ड का भी ऐलान किया जाएगा । डाक्टर इस ए शकूर ने बताया कि मोती गली में ज़ेर
तामीर उर्दू भवन के तमाम तर तामीराती काम-ओ-दीगर उमूर की आइन्दा दो यौम में तकमील करली जाएगी और हसब वाअदा 15 सितंबर को उर्दू भवन उर्दू एकेडेमी
हासिल करलेगी । उर्दू भवन में इंडोर ऑडीटोरियम को मुकम्मल एयरकंडीशनिंगड बनाया गया है और इस में 500 अफ़राद के नशिस्तों की गुंजाइश है । इस मौक़ा
पर जनाब शेख जाफ़र सपरनटनडनट जनाब पी अता उल्लाह ख़ां , जनाब वे कृष्णा , जनाब राशिद ज़ुबैरी , के इलावा दीगर मौजूद थे । डाक्टर इस ए शकूर ने
बताया कि उर्दू एकेडेमी की असातिज़ा एवार्ड तक़रीब में रियासती वज़ीर इकलेयती बहबूद जनाब मुहम्मद अहमद उल्लाह मेहमान ख़ुसूसी होंगे । उन्हों
ने बताया कि उर्दू एकेडेमी की जानिब से चलाए जाने वाले कंप्यूटर सैंटरस के कोर्सस को मौलाना आज़ाद यूनीवर्सिटी से मुस्लिमा करवाने के मुतअल्लिक़
ग़ौर किया जा रहा है ताकि सनद की अहमियत में मज़ीद इज़ाफ़ा होसके और कंप्यूटर ट्रेनिंग सैंटरस के वक़ार को बेहतर बनाया जा सके ।।

TOPPOPULARRECENT