Monday , December 11 2017

उर्दू यूनीवर्सिटी में धांदलियों के ख़िलाफ़ कल एहितजाजी धरना

मानव एक्शन कमेटी का इजलास(बेठक) , मौलाना तारिक़ खादरी और दीगर का ख़िताब

मानव एक्शन कमेटी का इजलास(बेठक) , मौलाना तारिक़ खादरी और दीगर का ख़िताब

उर्दू दां तबक़े से ताल्लुक़(संबंध) रखने वाले मुंतख़ब(चुना हुआ) अवामी नुमाइंदों(प्रतिनिधी) की मानव धांदलियों और गै़रक़ानूनी तक़र्रुत पर मुजरिमाना(अपराधियॊजेसा)ख़ामोशी को अफ़सोसनाक क़रार देते(ठहराते) हुए सदर नशीन मौलाना आज़ाद नैशनल उर्दू यूनीवर्सिटी ऐक्शण-ओ-जद्द-ओ-जहद कमेटी मौलाना सय्यद ताररक़ कादरी ने कहाकि अवामी नुमाइंदों(प्रतिनिधी) के क़ौल ओ रफ़ाल में तज़ाद उर्दू के तहफ़्फ़ुज़ के लिए क़ायम करदा बर्र-ए-सग़ीर की अज़ीम मौलाना आज़ाद नैशनल उर्दू यूनीवर्सिटी की तबाही की वजहा बन रहा है मानव ऐक्शण वजदोजहद कमेटी की जानिब से महबूब हुसन जिगर हाल में मुनाक़िदा इजलास से ख़िताब करते हुए उन्हों ने कहाकि जमहूरीयत में जमहूरी उसूलों की पासदारी की बरक़रारी के लिए अवामी एहतिजाज(विरोध) को हुकूमत की जानिब से(तरफ/ओर से) नज़रअंदाज नहीं किया जा सकता मगर मौलाना आज़ाद में जारी धांदलियों के ख़िलाफ़ मुसलसल एहतिजाज के बावजूद वाइस चांसलर और एकज़ीक्युटीव कमेटी के अरकान को खुली छूट देना उर्दूज़बान के साथ खिलवाड़ के मुतरादिफ़ है ।

उन्हों ने मर्कज़ी हुकूमत पर इल्ज़ाम आइद करते(लगाते) हुए कहाकि उर्दू की तरक़्क़ी की स्रवीज के नाम पर करोड़ हार वि आइ पियों के ख़र्च का मर्कज़ी हुकूमत की जानिब से मुसलसल तशरीह की जा रही है मगर अमली मैदान में मज़कूरा रक़म से ग़ैर उर्दू दां तबक़ा मुस्तफ़ीद होरहा है जिस की मिसाल मानव में ग़ैर उर्दू दां तबक़ा का तक़र्रुर है उन्हों ने मौलाना आज़ाद में जारी धांदलियों पर फ़ौरी रोक लगाने का मुतालिबा करते हुए कहाकि 27जून को मानव ऐक्शण कमेटी की जानिब से मौलाना आज़ाद नैशनल यूनीवर्सिटी के सिटी सैंटर वाक़्य हज हाउज़ पर कल जमाती धरने मुनज़्ज़म करने का ऐलान किया

उन्हों ने मानव ऐक्शण-ओ-जद्द-ओ-जहद कमेटी में शामिल तमाम(सारे) सयासी और ग़ैर सयासी नुमाइंदों के इलावा उर्दू के तहफ़्फ़ुज़ में सरगर्म तंज़ीमों के ज़िम्मा दारान से शिरकत की अपील की।कनोनीर कमेटी कामरेड नुसरत मुही उद्दीन ने भी इजलास से ख़िताब करते हुए ग़ैर उर्दू दां तबक़े के तक़र्रुत पर सी बी आई अनकोइरी करने का मुतालिबा किया उन्हों ने मानव इंतिज़ामीया पर इल्ज़ाम आइद करते(लगाते) हुए कहाकि मुजव्वज़ा सपलिमनटरी इमतिहानात के फ़ीस उद अकऱ्ने की तारीख़ की तशहीर के बगै़र ही मानव इंतिज़ामीया ने फ़ीस हासिल करने का अमल शुरू करदिया जबकि मानव इंतिज़ामीया की इस ग़लती का ख़मयाज़ा तलबा(विधियार्थी) की कसीर तादाद को भुगतना पड़ रहा है जो इमतिहानात में शिरकत करने के क़ासिर होगई है।

तलगुदेशम क़ाइद एम ए हकीम ने भी मानव धांदलियों के ख़िलाफ़ जारी इस जद्द-ओ-जहद को वुसअत देने पर ज़ोर देते हुए कहाकि मानव के तहफ़्फ़ुज़ केलिए तलगुदेशम की जानिब(तरफ) से मर्कज़ी वज़ीर कपिल सिब्बल से रास्त नुमाइंदगी(प्रतिनिधी) के बावजूद भी यूनीवर्सिटी इंतिज़ामीया में शामिल बद उनवान ओहदेदारों की ख़िलाफ़ अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई।कामरेड मुहम्मद यूसुफ़ ने इजलास की कार्रवाई चलाई जबकि शेख़ नासिर कामरेड मुनीर पटेलडाक्टर अबदुलहक़ शेख़ शमस उद्दीन सलीम अहमद मुहम्मद ज़हीरउद्दीन के इलावा दीगर(अन्य) ने भी इस इजलास में शरीक(शामिल) होकर अपने ख़्यालात का इज़हार किया।

TOPPOPULARRECENT