Sunday , December 17 2017

उर्दू यूनीवर्सिटी में बे क़ाईदगियों के ख़िलाफ़ एहितजाजी लायेहा-ए-अमल

हैदराबाद २3‍ । मार्च : ( सियासत न्यूज़ ) : मौलाना आज़ाद क़ौमी उर्दू यूनीवर्सिटी में बे क़ाईदगियों के ख़िलाफ़ ऐक्शण कमेटी का पहला इजलास आज शाम महबूब हुसैन जिगर हाल अहाता रोज़नामा सियासत में मुनाक़िद हुआ ।मुमताज़ क़ानूनदां मौलाना सय

हैदराबाद २3‍ । मार्च : ( सियासत न्यूज़ ) : मौलाना आज़ाद क़ौमी उर्दू यूनीवर्सिटी में बे क़ाईदगियों के ख़िलाफ़ ऐक्शण कमेटी का पहला इजलास आज शाम महबूब हुसैन जिगर हाल अहाता रोज़नामा सियासत में मुनाक़िद हुआ ।मुमताज़ क़ानूनदां मौलाना सय्यद तारिक़कादरी ऐडवोकेट ने इजलास की सदारत की । जनाब नुसरत मुही उद्दीन कन्वीनर ऐक्शण कमेटी ने इबतदा-ए-में शुरका का ख़ैर मुक़द्दम करते हुए कहा कि मौलाना आज़ाद उर्दू यूनीवर्सिटी में मुबय्यना बे क़ाईदगियों और स्टाफ़ के तक़र्रुत के सिलसिला में और धांदलियों के ख़िलाफ़ अवाम में गुम-ओ-ग़ुस्सा की लहर पैदा होगई है ।

ग़ैर उर्दू दां अफ़राद के तक़र्रुत के ज़रीया यूनीवर्सिटी के उर्दू किरदार को ख़तन करने की मुसलसल कोशिश होरही है और वाइस चांसलर की उर्दू दुश्मनी यूनीवर्सिटी के ऐक्ट और इस के मक़ासिद से इन्हिराफ़ केमुतरादिफ़ है । मिस्टर नुसरत मुही उद्दीन ने तमाम सयासी पार्टीयों और उर्दू तंज़ीमों से अपील की कि वो उर्दू की बक़ा और यूनीवर्सिटी को मुफ़ादात हा सिला से बचाने के लिए इसतहरीक में शामिल होजाएं । इजलास में तै किया गया कि यूनीवर्सिटी हुक्काम के रवैय्याऔर वाइस चांसलर की तानाशाही के ख़िलाफ़ जमहूरी अंदाज़ में एहतिजाज मुनज़्ज़म किया जाय इस के इलावा मर्कज़ी मुमलिकती वज़ीर फ़रोग़ इंसानी वसाइल मिसिज़ पोरनदीशोरी को याददाश्त पेश करने का फ़ैसला किया गया ।

इजलास को मसरस रहीम अल्लाह ख़ां नियाज़ी , ईमा य हकीम ऐडवोकेट , शहबाज़ अहमद ख़ां ( तलगो देशम ) , डाक्टर नासिर , मुहम्मद यूसुफ़ , यस ए मन्नान और उसमान अली ( सी पी आई ) जनाब अबदुर्रहमान ( जमईता अलालमा-ए-) , जनाब जव्वाद मीर , आबिद सिद्दीक़ी , इमतियाज़ अली ताज और दूसरों ने शिरकत की । इजलास ने सदर जमहूरीया , वज़ीर-ए-आज़म डाक्टर मनमोहन सिंह , मर्कज़ी वज़ीर फ़रोग़ इंसानी वसाइल कपिल सिब्बल और यू जी सी को एक तफ़सीली याददाश्त पेश करने का भी फ़ैसला किया । मौलाना सय्यद तारिक़ कादरी ने सदारतीतक़रीर में उर्दू-ओ-इलों से अपील करते हुए कहा कि वो उर्दू यूनीवर्सिटी के उर्दू किरदार को बचाने के लिए मुत्तहदा जद्द-ओ-जहद करें और ना इंसाफ़ियों , अक़रबा-ए-पर्वरी , जांबदारी और ज़ाफ़रानी तर्ज़ अमल के ख़िलाफ़ भरपूर एहतिजाज करें ।।

TOPPOPULARRECENT