Tuesday , December 12 2017

उर्दू स्कूल के छात्रों ने पेश किए बेतरीन मॉडल्स, काबा और हज मॉडल रहा आकर्षण का केन्द्र

गुलबर्गा: उर्दू माध्यम के छात्रों में रचनात्मक और अभिनव क्षमताओं की कोई कमी नहीं होती. इसका सबूत नेशनल उर्दू स्कूल गुलबर्गा के छात्रों ने तालीमी प्रदर्शनी के दौरान बखूबी दिया. छात्रों ने ऐसे ऐसे मॉडल्स प्रदर्शन के लिए पेश किए, जिन्हें देखकर सहज हर किसी की जुबान से प्रशंसा निकल गई.
ज़िम्मेदारों का भी कहना है कि छात्रों में छिपी क्षमताओं को निखारना उनका मुख्य उद्देश्य है.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

प्रदेश 18 के अनुसार, इस तालीमी प्रदर्शनी में काबा मॉडल और हज का मॉडल आकर्षण का केंद्र बना रहा.
इस प्रदर्शनी को विभिन्न स्कूलों के विद्यार्थियों ने देखा. प्रदर्शनी में छात्रों के हर विषय विज्ञान, इतिहास, साहित्य और गणित के मॉडल्स पेश किए गए. सौर प्रणाली, सूर्य ग्रहण और अक्षय ऊर्जा जैसे वैज्ञानिक मॉडल्स भी बनाए गए.
इसके अलावा इतिहास और साहित्य को भी शैक्षिक प्रदर्शनी में उल्लेखनीय स्थान दिया गया.

स्कूल के ज़िम्मेदारों का भी कहना है कि इस प्रदर्शनी का उद्देश्य पारंपरिक सोच को तोड़ना है कि उर्दू माध्यम के छात्र आगे विकास नहीं कर सकते. और छात्रों के आत्मविश्वास में वृद्धि करना है.

TOPPOPULARRECENT