उलेमाओं ने नाली बनाने के लिए ‘श्री राम’ नाम की ईंटों का इस्तेमाल की निंदा की, मिला बजरंग दल का समर्थन

उलेमाओं ने नाली बनाने के लिए ‘श्री राम’ नाम की ईंटों का इस्तेमाल की निंदा की, मिला बजरंग दल का समर्थन

मेरठ : सोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं देवबंद के उलेमाओं ने उन तस्वीरों की निंदा की है जिसमें श्री राम नाम की ईंटों से नाली का निर्माण किया जा रहा है. मदरसा जमात दावत-उल-मुस्लिमीन के कारी इजहाक गोरा ने कहा है, ‘यह हर भारतीय का कर्तव्य है कि दूसरे धर्मों और उनका पालन करने वालों का सम्मान किया जाए। इस तरह की ईंटों का इस्तेमाल गलत है और इसकी कड़े शब्दों में आलोचना होनी चाहिए। सरकारी एजेंसियों को इस अपवित्रीकरण को रोकने के लिए उचित कदम उठाने चाहिए।’ उन्होंने यह भी मांग की कि जिन लोगों ने धार्मिक भावनाएं आहत की हैं, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

उत्तराखंड की इन तस्वीरों में ऐसी ईंटें दिखने पर उलेमाओं ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि हर भारतीय को एक दूसरे के धर्म और अनुयायियों का सम्मान करना चाहिए। उन्होंने सरकार से भी इसके खिलाफ कदम उठाने की मांग की है। दिलचस्प बात यह है कि इस मुद्दे पर देवबंद को बजरंग दल का समर्थन मिला है।

तंजीम अब्ना-ए-मदरिस के अध्यक्ष मुफअती यादिलाही काजमी ने कहा है, ‘हमारा देश सहिष्णुता की मिसाल है। यही वजह है कि हम इतने साल से एक-दूसरे के साथ सौहार्द के साथ रह रहे हैं। अलग-अलग विश्वास के साथ लोग यहां रहते हैं और एक-दूसरे का सम्मान करते हैं। इस तरह के काम से हमारे हिंदू भाइयों की तरह ही हमारी भावनाओं को चोट पहुंची है। इस असंवेदनशील काम के लिए जिम्मेदार लोगों का पता लगाने के लिए जांच होनी चाहिए।’

दिलचस्प बात यह है कि देवबंद के उलेमाओं के समर्थन में बजरंग दल उतरा है। बजरंग दल के पश्चिम यूपी के संयोजक बलराज दुंगर ने कहा, ‘हम इस बारे में देवबंद का समर्थन करते हैं। भगवान राम का पूरी दुनिया में सम्मान किया जाता है और उनके नाम पर ईंटें बनाना फौरन बंद कर देना चाहिए क्योंकि इससे गलत इस्तेमाल पर भी अंकुश लगेगा। हम मामले में जांच की मांग करते हैं और ईंट के भट्ठे को कड़ी चेतावनी देनी चाहिए।’

Top Stories