Sunday , January 21 2018

उस्मानिया अस्पताल में नर्सिंग स्टाफ की हड़ताल

हैदराबाद 14 नवंबर:उस्मानिया जनरल अस्पताल में नर्सिंग स्टाफ की अचानक हड़ताल के कारण चिकित्सा उपचार और देखभाल की प्रक्रिया रुक गया।

उस्मानिया जनरल अस्पताल में 230 नर्सेस काम करती हैं उन पर काम का काफी बोझ रहता है। दवाख़ाना एक हजार चार सौ बेड पर शामिल हैं। नर्सेस की कम संख्या के कारण मौजूदा नर्सिंग स्टाफ पर काम भारी बोझ है।

नर्सिंग स्टाफ के अधिकारियों से बातचीत जारी थी कोई प्रगति न होने पर नर्सिंग स्टाफ ने काम रोक दिया।
65 इसके नतीजे में मुक़र्ररा 70 ऑपरेशन रोक दिए गए।

नर्सों की अचानक हड़ताल से मरीजों और उनके तीमार दार काफी परेशान हैं। रसायनज्ञ के किसी वार्ड में एक भी नर्स नजर नहीं आई। कुछ रोगियों की हालत गंभीर है और उनके रिश्तेदार परेशान हैं।

सरकार नर्सेस एसोसिएशन के सचिव एम जया अम्मा ने कहा कि 230 नर्सेस से आठ सौ नर्सों का अधिक काम लिया जा रहा है। नर्सेस 3 शिफ्टस में काम करती हैं।

साप्ताहिक बंद और विदा के मामले में नर्सिंग स्टाफ की गंभीर कमी पैदा हुई है। ड्यूटी पर मौजूद नर्सों पर काम का काफी बोझ पड़ता है। हर दिन ज़ायदाज़ दो हजार आउट पेशंट्स और दो सोता 300 इन पेशंट्स का ईलाज होता है। इसके अलावा हर रोज औसतन 12 सरजरीज़ होते हैं। अस्पताल के अधीक्षक डॉ जी वी एस मूर्ति ने कहा कि उन्होंने राज्य सरकार को नर्सों की मांग लिखित रूप में अवगत करा दिया है।

TOPPOPULARRECENT